DeogharDumkaJharkhandPakurSahibganj

मुख्यमंत्री ने संथालपरगना के सभी रेलवे स्टेशनों पर आम सूचनाएं अब ओलचिकी लिपि में देने को रेल मंत्री को पत्र लिखा

Ranchi: संथालपरगना के सभी रेलवे स्टेशनों में अब आम सूचनाएं ओलचिकी लिपी में लिखी दिखाई दे सकती हैं. मुख्यमंत्री रघुवर दास ने इस मसले पर केंद्रीय रेल मंत्री पीयुष गोयल को पत्र लिखा है. पत्र में संथालपरगना के सभी 6 जिलों एवं कोल्हान प्रमंडल के पूर्वी सिंहभूम जिला के अंतर्गत पड़नेवाले रेलवे स्टेशनों पर आम सूचना की उद्घोषणा हिंदी के साथ संथाली भाषा में भी किये जाने का आग्रह किया है.

Sanjeevani

सूचना पट्ट पर भी ओलचिकी लिपि

MDLM

सूचना पट्ट पर ओलचिकी लिपि में भी रेलवे स्टेशन का नाम सहित अन्य आम सूचना प्रदर्शित करने का अनुरोध किया है. इससे न केवल संथाली भाषा-भाषी जनता को सुगमता से सूचना प्राप्त होगी बल्कि, उनमें अपनी भाषा के प्रति गौरव का भी बोध होगा. पत्र में यह भी कहा गया है पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के कार्यकाल में संथाली भाषा को संविधान की आठवीं सूची में सम्मिलित किया गया है.

सरकारी कार्यालय और स्कूलों के नाम भी ओलचिकी लिपि में

इससे पहले मुख्यमंत्री ने संतालपरगना के सभी छह जिला दुमका, देवघर, पाकुड़, गोड्डा, जामताड़ा एवं साहेबगंज तथा कोल्हान क्षेत्र के पूर्वी सिंहभूम जिला में संथाल जनजाति समुदाय की बड़ी जनसंख्या को देखते हुए इन जिलों में स्थित सभी सरकारी कार्यालयों- विद्यालयों के नाम संथाली भाषा की लिपि ओलचिकी में भी लिखे जाने का निर्देश दिया है, ताकि संथाली भाषा-भाषी जनता को कठिनाई नहीं हो और वे भी सुगमता से कार्यालयों/ विद्यालयों की पहचान कर सकें.

इसे भी पढ़ें – प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना से राज्य के 92 प्रतिशत कर्मगार होंगे लाभान्वित : रघुवर दास

Related Articles

Back to top button