न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सीओ विनय ने पत्नी के नाम अवैध तरीके से खरीदी 30 एकड़ जमीन, अब चलेगी विभागीय कार्यवाही

असर्वेक्षित प्रकृति की जमीन का एनओसी निर्गत करने और गलत नामांतरण का है आरोप

4,179

Ranchi: झारखंड के अंचलाधिकारियों का जमीन से मोह भंग नहीं हो रहा है. लगभग एक साल में 12 सीओ जमीन हेराफेरी के मामले में जांच के दायरे में आये हैं. इनमें से दो अंचलाधिकारियों को सेवा से मुक्त कर दिया है. अब एक और सीओ जांच के दायरे में आ गये हैं. मधुपुर(देवघर) के तत्कालीन सीओ विनय कुमार लाल पर अवैध तरीके से पत्नी के नाम 30 एकड़ जमीन खरीदने का आरोप है. इसके अलावा उन पर असर्वेक्षित प्रकृति की भूमि का एनओसी निर्गत करने और गलत नामांतरण करने का आरोप है. फिलहाल विनय कुमार लाल रिटायर हो गये हैं.

mi banner add

सीओ के खिलाफ प्रपत्र क गठित

राजस्व विभाग के पत्रांक 2569 के माध्यम से डीसी देवघर ने प्रपत्र क गठित कर विभाग को भेज दिया है. जिसमें प्रथम दृष्टया आरोप प्रमाणित पाया गया है. प्रपत्र क में गठित आरोपों की जांच के लिये सरकार ने विभागीय कार्यवाही चलाने का निर्णय लिया है. कार्मिक ने इसका आदेश चार जनवरी को जारी कर दिया. वहीं विनय कुमार लाल से 15 दिनों के अंदर लिखित जवाब भी मांगा गया है. जांच संचालन पदाधिकारी पूर्व आइएएस विनोद चंद्र झा को बनाया गया है.

जमीन हेराफेरी में अब तक फंस चुके हैं 12 सीओ

Related Posts

अवैध रूप से नियुक्त मेनहर्ट परामर्शी को 17 करोड़ भुगतान हेमंत सोरेन ने कराया था : सरयू राय

राय ने कहा, सिवरेज-ड्रेनेज सिस्टम की बदहाली के लिए नगर विकास मंत्री सीपी सिंह को जिम्मेदार ठहराना उचित नहीं

  • नीतू कुमारी: तत्कालीन अंचल अधिकारी चक्रधरपुर. आरोप- दाखिल खारिज मामले में अनियमितता.
  • जामनीकांत: तत्कालीन अंचल अधिकारी, रांची. रिश्वत लेने का आरोप प्रमाणित.
  • अंजना कुमारी: तत्कालीन अंचल अधिकारी गढ़वा. अवैध तीरीके से जमीन का नामांतरण.
  • हेमा प्रसाद: तत्कालीन अंचल अधिकारी, जामताड़ा. गलत तरीके से जमीन हस्तांतरण का आरोप.
  • निर्मल टोप्पो: तत्कालीन सीओ, चास. अवैध तरीके से जमीन का हस्तांतरण, बर्खास्त.
  • मनोज तिवारी: तत्कालीन अंचल अधिकारी, बरकट्ठा. रिश्वत लेने का आरोप.
  • अगुस्टिन प्रफ्फुल बेग: तत्कालीन सीओ हरिहरगंज. आरोप- इंदिरा आवास योजना में हेराफेरी.
  • जेवियर हेरेंज: आरोप- सीएनटी का दुरुपयोग. दंड- अनिवार्य सेवानिवृत्ति.
  • सिर्द्धाथ शंकर चौधरी: तत्कालीन सीओ देवघर, आरोप- जमीन घोटाला.
  • रामनारायण राम: तत्कालीन सीओ देवघर, आरोप- जमीन घोटाला
  • सुजीत कुमार: आरोप- विस्थापितों के मुआवजा भुगतान में अनियमितता
  • सुधीर दास: आरोप- कोल ब्लॉक की जमीन में हेराफेरी

इसे भी पढ़ें – पीएलएफआई के एरिया कमांडर सहित दो उग्रवादी हथियार के साथ गिरफ्तार, पूछताछ जारी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: