ChatraCrime News

मोनी मिसिंग केस की गुत्थी सुलझी! पुलिस बोली- पति ने ही हत्या कर जला दी थी लाश

Chatra : चतरा की सदर थाना पुलिस ने करीब नौ महीने पुराने मोनी कुमारी मिसिंग केस की गुत्थी सुलझा ली है. पुलिस के मुताबिक, दहेज के लिए पति-पत्नी में चल रही अनबन के कारण मोनी कुमारी की उसके पति दीपक साव ने ही हत्या कर दी थी. पत्नी की हत्या करने के बाद दीपक साव ने शव को जंगल ले जाकर जला दिया था. उसके बाद उसने थाना में अपनी पत्नी की गुमशुदगी का सनहा दर्ज करा दिया था. मामले में पुलिस ने आरोपी पति दीपक साव को गिरफ्तार कर लिया है. साथ ही इस हत्याकांड में प्रयुक्त बाइक और उसे जलाने में प्रयुक्त पटरे में लगे लोहे का कील बरामद किया है.

इसे भी पढ़ें- डीजीपी ने चेताया, फ्री लैपटॉप देने का वादा करनेवालों से बचें, साइबर अपराधी आपकी निजी जानकारी चुराना चाहते हैं

मोनी के मायकेवालों ने दीपक के खिलाफ दर्ज करायी थी प्राथमिकी

Catalyst IAS
ram janam hospital

सोमवार को सदर थाना में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में थाना प्रभारी लव कुमार ने बताया कि लॉकडाउन अवधि में अप्रैल में जिले के लावालौंग थाना क्षेत्र निवासी दीपक कुमार ने सदर थाना में अपनी पत्नी मोनी कुमारी की गुमशुदगी का सनहा दर्ज कराया था. साथ ही अपने ससुरालवालों को भी उसकी गुमशुदगी की जानकारी दी थी, जिसके बाद उसके ससुरालवालों ने हजारीबाग सदर थाना में दहेज प्रताड़ना को लेकर दीपक के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराते हुए अनहोनी की आशंका व्यक्त की थी. हजारीबाग पुलिस और मोनी के परिजनों ने चतरा सदर थाना पुलिस से मामले में सहयोग मांगा था. हजारीबाग पुलिस और मोनी के परिजनों के आग्रह के बाद सदर थाना पुलिस ने मामले में आरोपी पति दीपक साव को उसके झुमड़ा मुहल्ला स्थित किराये के मकान से गिरफ्तार कर लिया.

The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali

इसे भी पढ़ें- दुमकाः ABVP के नेता ने गर्लफ्रेंड से लाइव चैटिंग के दौरान लगा ली फांसी

चार साल पहले हुआ था अंतरजातीय प्रेम विवाह

सदर थाना में गहन पूछताछ के दौरान आरोपी पति दीपक साव ने अपनी पत्नी की हत्या कर शव को जला देने की बात स्वीकार कर ली. उसकी निशानदेही पर पुलिस ने घटनास्थल से लाश को जलाने में प्रयुक्त पटरे में लगे लोहे का कील बरामद किया है. वहीं, हत्या कर शव को घर से जंगल ले जाने में प्रयुक्त बाइक को भी बरामद कर लिया है.

थाना प्रभारी ने बताया कि दीपक और मोनी का करीब चार वर्ष पूर्व हजारीबाग में ही अंतरजातीय प्रेम विवाह हुआ था. शादी के बाद से ही दोनों में दहेज को लेकर अनबन चल रही थी. थाना प्रभारी ने बताया कि आरोपी दीपक ने नौ महीने पहले अपने किराये के घर में अपनी पत्नी की हत्या की, उसके बाद साक्ष्य छुपाने के उद्देश्य से रात के अंधेरे में जंगल ले जाकर शव को सेंट्रिंग में प्रयुक्त पटरा और पेट्रोल से जला दिया. वह पकड़ा न जाये, इसलिए थाना में अपनी पत्नी के गुमशुदा होने की झूठी सूचना देकर सनहा दर्ज कराते हुए पुलिस और परिजनों को गुमराह कर दिया.

इसे भी पढ़ें- गिरिडीह में सड़क हादसे में एक की मौत, हज़ारीबाग में ट्रेन से कटकर गयी युवक की जान

Related Articles

Back to top button