JharkhandLead NewsRanchiTOP SLIDER

शहीद डिप्टी कमांडेंट राजेश कुमार का पार्थिव शरीर मुंगेर रवाना, सीएम हेमंत व डीजीपी ने दी श्रद्धांजलि

Ranchi: लातेहार जिले में नक्सलियों से मुठभेड़ में शहीद हुए झारखंड जगुआर के डिप्टी कमांडेंट राजेश कुमार को झारखंड जगुआर मुख्यालय पहुंचकर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, डीजीपी नीरज सिन्हा समेत विभिन्न पुलिस अधिकारियों ने भावभीनी श्रद्धांजलि दी गई. इसके साथ ही शहीद जवान का पार्थिव शरीर उनके गृह जिला मुंगेर (बिहार) के लिये रवाना कर दिया गया है.

इसे भी पढ़ें: इस बार सिद्धू को भारी पड़ सकती है तुनुकमिजाजी, कांग्रेस आलाकामान मनाने के मूड में नहीं

झारखंड जगुआर मुख्यालय में जब शहीद जवान को श्रद्धांजलि दी जा रही थी, तब वहां उपस्थित व्यक्ति की आंखें नम थीं. इसके साथ ही उपस्थित जवानों के मन में नक्सलियों के प्रति आक्रोश भी दिख रहा था, और अपने साथी की शहादत पर गर्व भी.

Catalyst IAS
ram janam hospital

The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali

झारखंड में नक्सलियों के खिलाफ आपरेशन ग्रीन हंट शुरू होने के बाद यह पहला मौक़ा है जब जेजेएमपी के नक्सलियों ने सुरक्षाकर्मी को निशाना बनाया है. मालूम हो कि बिहार के मुंगेर जिला के लाल दरवाजा निवासी राजेश कुमार ने 12 नवंबर 2007 को बीएसएफ में योगदान दिया था. उनकी पैतृक वाहिनी पश्चिम बंगाल के कृष्णनगर की 84वीं बटालियन थी. राजेश के सहकर्मियों के अनुसार राजेश कुमार तीन साल से झारखंड जगुआर में योगदान के बाद कई सफल ऑपरेशन का हिस्सा रह चुके थे. राजेश कुमार ने पूर्व में राज्य के तमाम नक्सल प्रभावित इलाकों में होने वाले ऑपरेशन में हिस्सा लिया था.

इसे भी पढ़ेंःरांची : पीएलएफआई सुप्रीमो दिनेश गोप ने अपर बाजार के व्यवसायी से मांगी तीन करोड़ की रंगदारी

शहीद डिप्टी कमांडेट राजेश कुमार के भाई रवि ने कहा की उनका भाई दिलेर था. शहीद के भाई ने कहा की नक्सली अब नक्सली नहीं रहे. वह अब बिजनेस कर रहे हैं. शहीद डिप्टी कमांडेट के भाई ने कहा की भाई की शहादत पर उन्हें गर्व है.

Related Articles

Back to top button