न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बोकारो : तेनुघाट डैम में डूबी दोनों छात्राओं का शव चार दिन बाद मिला

1,193

Bokaro : तेनुघाट डैम में डूबी दोनों छात्राओं का शव शुक्रवार को तीन नम्बर गेट के समीप नजर आया. जिसे स्थानीय मछुआरों द्वारा बाहर लाया गया, दोनो सहेलियां ओढनी से अपना हाथ एक दूसरे से बांधे हुए थीं. एनडीआरएफ की टीम चार दिनों से शवों को खोज रही थी, लोगों की भीड़ भी लगी थी, पहले तो उम्मीद जताया जा रहा थी कि दोनों का शव नदी में बह गया होगा, लेकिन उनके डैम में कूदने के बाद डैम का फाटक बंद कर दिया गया था. जिसके बाद से फाटक के आस-पास ही खोज जा रहा था, लेकिन गहरे पानी के कारण शव नहीं मिल रहा था, शुक्रवार को मछुवारों के प्रयास और करीब आधे दर्जन नाव लेकर शव खोजने का काम सुबह से शुरू हुआ, उसके बाद गेट नंबर तीन के पास उनके शव मिले.

इसे भी पढ़ें- वेतन पर सालाना खर्च 261.97 करोड़, राजधानी समेत नौ जिलों के वन क्षेत्र में वृद्धि नहीं

मंगलवार को डैम में कूदी थी दोनों

hosp1

केबी कॉलेज बेरमो की दोनों छात्रा मंगलवार की दोपहर करीब डेढ़ बजे तेनुघाट डैम में छलांग लगा दी. डैम में छलांग लगाने के पूर्व एक ने अपने भाई को मोबाइल पर मैसेज भेजकर खुदकुशी की जानकारी भी दी. भागते भागते परिजन भी वहां पहुंचे लेकिन डैम के अथाह पानी में छात्राओं का कोई अता पता नहीं चल पाया. करीब तीन घंटे तक खेतको के गोताखोरों ने डैम में उतरकर छात्राओं को ढूढ़ने की कोशिश भी की लेकिन प्रयास विफल गया. डैम में छलांग लगाने वाली मीना कुमारी(18) पिता बुधन तुरी और सुनीता कुमारी( 19) पिता चन्द्रदेव साव की पुत्री थीं. दोनों सहेली जारंगडीह की रहने वाली थीं और केबी कॉलेज में स्नातक की छात्रा थीं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: