GarhwaJharkhand

गढ़वा बाइपास निर्माण की सबसे बड़ी बाधा दूर: मिथिलेश ठाकुर 

विज्ञापन

Garhwa: गढ़वा की चिर प्रतीक्षित मांग बाइपास सड़क निर्माण की सबसे बड़ी बाधा दूर हो गयी है. इस दिशा में सफलता की ओर कदम बढ़ गये हैं. बाइपास निर्माण की राह में आ रही सबसे बड़ी समस्या एसएफसी स्टैंडिंग फाइनेंशियल कमेटी की मंजूरी मिल गयी है. अब आगे की कार्रवाई निविदा की प्रक्रिया प्रारंभ की जायेगी. यह जानकारी गढ़वा विधायक सह झारखंड के पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री मिथिलेश कुमार ठाकुर ने दी.

मंत्री ने बताया कि गढ़वा में बाइपास निर्माण की दिशा में बहुत बड़ी सफलता मिल गयी है. वे चुनाव जीतने के बाद से ही केंद्रीय राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी को पत्र लिखकर एवं दूरभाष से संपर्क कर लगातार प्रयासरत हैं. साथ ही मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने भी राजमार्ग मंत्री गडकरी को पत्र लिखकर इस मामले में त्वरित कार्रवाई करने का आग्रह किया है. दोनों के लगातार प्रयास से पहले कदम की सफलता मिल गयी है.

इसे भी पढ़ें – छठी जेपीएससी में सफल अभ्यर्थियों की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, हाइकोर्ट ने दिया प्रतिवादी बनाने का निर्देश

advt

निविदा प्रक्रिया के बाद मुआवजे का होगा भुगतान

गढ़वा एवं पलामू जिला प्रशासन से समन्वय स्थापित कर भूमि अधिग्रहण की सारी समस्याओं का निपटारा भी कर दिया गया है. अब निविदा की प्रक्रिया के बाद भूमि अधिग्रहण की मुआवजा राशि का भुगतान किया जायेगा. तत्पश्चात आगे की कार्रवाई प्रारंभ कर दी जायेगी.

मिथिलेश ठाकुर ने कहा कि वे चुनाव पूर्व किये गये सभी वादे पूरा करने के लिए हरसंभव लगातार प्रयास कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि इमानदारीपूर्वक एवं स्वार्थरहित किया गया प्रयास अवश्य सफल होता है.

मंत्री ने गढ़वा की जनता के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि गढ़वा के लोगों ने उन्हें इस लायक समझकर आशीर्वाद दिया है, इसके लिए वे गढ़वा वासियों के हमेशा आभारी रहेंगे एवं गढ़वा की हर समस्या दूर करने के लिए वे लगातार इमानदारी पूर्वक कार्य करते रहेंगे.

इसे भी पढ़ें – पलामू: गढ़वा बाइपास और NH 98 के निर्माण के लिए लगी फाइनेंसियल कमेटी की मुहर

adv
advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button