न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अधिकारियों की टीम पर किया था जानलेवा हमला, पुलिस ने गिरफ्तार कर भेजा जेल

विकास योजनाओं को प्रभावित करने के उद्देश्य से विनय सेंगर एंड कंपनी ने दिया था घटना को अंजाम

28

Chatra: जिला प्रशासन और पुलिस के लिए सिरदर्द बन चुके विनय सेंगर एंड कंपनी पर आखिरकार कार्रवाई शुरू हो गयी. पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर बड़ी कार्रवाई करते हुए हिंसक रूप से विकास योजनाओं को प्रभावित करने वाले सेंगर ग्रुप के एक सदस्य को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.

क्‍या है पूरा मामला

जिले की वशिष्टनगर जोरी थाना पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए करमाली माइंस शुरू कराने पहुंचे दंडाधिकारियों और सुरक्षाबलों पर जानलेवा हमला करने का मुख्य अभियुक्त शिवरतन प्रसाद को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है. शिवरतन की गिरफ्तारी थाना क्षेत्र के चतरा-डोभी मुख्यपथ पर स्थित मोरैनवा मोड़ के समीप से हुई है. उसपर अनुमंडल दंडाधिकारी द्वारा करमाली माइंस शुरू कराने को लेकर गांव में प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी हंटरगंज सीओ रामसुमन प्रसाद व जोरी थाना पुलिस पर जानलेवा हमला करने का आरोप है.

गौरतलब है कि क्षेत्र में सक्रिय गांव गणराज्य नामक संस्था के संचालक विनय सेंगर व उसके गुर्गों ने अवैध वसूली के नियत से थाना क्षेत्र अंतर्गत करमाली गांव में संचालित पत्थर खदानों को जबरन बंद करा दिया था. जिसके बाद उपायुक्त जितेंद्र कुमार सिंह ने मामले की जांच कराते हुए दस्तावेजों के आधार पर बंद माइंस को पुनः शुरू कराने का निर्देश एसडीओ को दिया था.

हमले में घायल हुए थे दर्जन भर पुलिसकर्मी

डीसी के निर्देश पर ही एसडीओ ने हंटरगंज अंचल अधिकारी को बतौर दंडाधिकारी प्रतिनियुक्त कर सुरक्षा व्यवस्था के बीच माइंस शुरू कराने का निर्देश दिया था. जिसके बाद अंचल अधिकारी के नेतृत्व में पुलिस कर्मियों की टीम माइन्स शुरू कराने करमाली गांव पहुंची थी. जहां विनय सेंगर के बहकावे पर शिवरतन प्रसाद समेत अन्य लोगों ने टीम पर हमला बोल दिया था. इस हमले में सीओ समेत करीब एक दर्जन पुलिस के जवान घायल हो गये थे. इसी मामले में सीओ के फर्द बयान के आधार पर वशिष्टनगर जोरी थाना में विनय सेंगर व उसके गुर्गों के विरुद्ध सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने का मामला दर्ज किया गया था.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: