ChatraJharkhandNEWS

चतरा मण्डल कारा में बंदियों के लिए आयोजित ‘दि आर्ट ऑफ लिविंग’ प्रिजन कोर्स संपन्न

67 संसीमित बंदियों ने किया सुदर्शन क्रिया सहित सामान्य योगा प्रोटोकॉल का नियमित अभ्यास

Chatra : जेल में बंद कैदियों को मानसिक शांति देने के लिए दि आर्ट ऑफ लिविंग द्वारा चलाया जा रहा कार्यक्रम संपन्न हुआ. बता दें कि स्थानीय मण्डल कारा, चतरा में कारा निरीक्षणालय, गृह, कारा एवं आपदा प्रबंधन विभाग, झारखण्ड सरकार, जिला विधिक सेवा प्राधिकार, रांची एवं दि आर्ट ऑफ़ लिविंग व्यक्ति विकास केंद्र, भारत के रांची चैप्टर के संयुक्त तत्वावधान में गत 12 जून से संसीमित बंदियों के लिए प्रिजन कोर्स चलाया जा रहा था. जिसमें कुल 67 बंदियों ने भाग लेकर प्रतिदिन प्रातः 6 बजे से 8 बजे तक सुदर्शन क्रिया, प्राणायाम, ध्यान सहित लगातार 8 दिनों तक प्रतिदिन नियमित रूप से सामान्य योगा प्रोटोकॉल का आभ्यासिक प्रशिक्षण प्राप्त किया.

कार्यक्रम के दौरान 50 पुरुष संसीमित बंदियों ने लिविंग के प्रशिक्षक दीपक कुमार व विकाश कुमार स्नेही के नेतृत्व में व 17 महिला संसीमित बंदियों ने प्रशिक्षिका रेणु रीना व सहयोगी प्रशिक्षिका सरोज कुमारी के नेतृत्व में सुदर्शन क्रिया व योग अभ्यास के माध्यम से तनावमुक्त मन व रोगमुक्त शरीर सहित योगसम्मत सुन्दर, सुभद्र व स्वस्थ जीवनशैली का ज्ञान प्राप्त किया.

समापन के मौक़े पर जेलर दिनेश कुमार वर्मा ने योग अभ्यास में शामिल सभी बंदियों को स्वस्थ व तनावमुक्त जीवन की शुरुआत के लिए हार्दिक शुभकामनायें दीं व इसे नियमित रूप से जारी रखने की सलाह दी. साथ ही, कहा कि वर्तमान समय में योग अभ्यास अनेक मनोशारीरिक रोगों से मुक्ति दिलाने के साथ-साथ तनाव प्रबंधन में काफ़ी उपयोगी साबित हुआ है. योग के नियमित अभ्यास से जीवन की कठिन परिस्थितियों के बीच भी मन को गहरी शांति व स्थिरता मिलती है. उन्होंने आसन्न 21 जून को 8वें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के शुभ अवसर पर मण्डल कारा में आयोजित योगा प्रोटोकॉल विशेष अभ्यास सत्र में अधिक से अधिक संख्या में संसीमित बंदियों को भाग लेने का आह्वान भी किया. अंत में, उन्होंने मण्डल कारा प्रशासन की ओर से कार्यक्रम के सफल संचालन हेतु आर्ट ऑफ़ लिविंग के प्रशिक्षकों का धन्यवाद ज्ञापन किया. कार्यक्रम के सफल संपादन में कारा के अधीक्षक मानिक चंद राम, जेलर दिनेश कुमार वर्मा सहित सम्पूर्ण कारा प्रशासन का सराहनीय योगदान रहा.

Catalyst IAS
ram janam hospital

Related Articles

Back to top button