HEALTHJharkhandLead NewsRanchi

लंग्स को डैमेज करते हुए पेट में घुसा तीर, रिम्स में डॉक्टरों ने किया ऑपरेशन

Ranchi: रिम्स राज्य का सबसे बड़ा हॉस्पिटल है. कभी अव्यवस्था को लेकर तो कभी मरीजों के इलाज में लापरवाही को लेकर चर्चा में बना रहता है. लेकिन यहां के कुछ डॉक्टर अपना फर्ज निभाने से पीछे नहीं हटते. यह बात रिम्स के डॉक्टरों ने एक बार फिर साबित कर दी है.

कोरोना के बीच डॉक्टरों ने एक युवती की जान बचाई है जिसके सीने में तीर घुस गया था. तीर सीने से होते हुए लंग्स और हार्ट को छूते हुए पेट में घुस चुका था. सर्जरी के डॉ आरएस शर्मा के यूनिट व सीटीवीएस की टीम ने डॉ अंशुल कुमार से संपर्क किया और योजना बनाकर उसका सफल ऑपरेशन किया.

इसे भी पढ़ें :बहन के पति को आत्महत्या के लिए किया मजबूर, 2 माह बाद चढ़े पुलिस हत्थे, अवैध संबंध बना था विवाद की वजह

टीम में सर्जरी के डॉ आरएस शर्मा, डॉ संदीप अग्रवाल, डॉ अमृता प्रसाद, डॉ थारगन, डॉ सनमुघा प्रियन, एनेस्थीसिया के डॉ संजय, डॉ प्रतिभा, डॉ अतिप्रिया, डॉ रवि मुर्मू और डॉ दुमिनी सोरेन थे.

advt

क्या है पूरा मामला

साहेबगंज की रहने वाली युवती को पारिवारिक कलह में तीर मार दिया गया था. तीर सीने से होते हुए लंग्स और हार्ट को छूते हुए पेट तक पहुंच गया था. शनिवार को रिम्स के इमरजेंसी में इलाज के लिए लाया गया, जहां तत्काल युवती का सीटी स्कैन और एक्सरे किया गया.

इसे भी पढ़ें :होनहार और गरीब बच्चों की पढाई में मददगार साबित होगी सुरेन्द्र-आशा छात्रवृत्ति

इसके बाद डॉ अंशुल कुमार ने डॉक्टरों की टीम के साथ कार्डियो थोरेसिक ओटी में ऑपरेशन किया. उन्होंने कहा कि ऑपरेशन के दौरान डॉक्टर्स की टीम ने पेट में चीरा लगाकर पहले चोट को देखा, जिसमें पाया कि तीर सांस की झिल्ली को छेदते हुए लीवर और अमाशय के पास धंसा हुआ था. इसके बाद तीर को पेट के रास्ते बाहर निकाला गया.

 

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: