न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बोकारो डीसी के पीए की गिरफ्तारीः कम्प्यूटर ऑपरेटर को नाजिर बनाना गंभीर, बनती है डीसी की भी जिम्मेदारीः सरयू राय

डीसी ने पीसी में कहा, नहीं है मामले का गोपनीय कार्यालय से संबंध

1,782

Ranchi: खाद्य आपूर्ति विभाग में कर्मी और अधिकारियों की भारी कमी है. स्थिति ऐसी है कि सिर्फ आठ जिले में ही डीएसओ हैं. बाकी डीसी मजिस्ट्रेट को डीएसओ का प्रभार देकर काम करा रहे हैं. एमओ की संख्या में भी काफी कमी है. पूरा विभाग एक सामान्य प्रशासन के हवाले है. डीसी ही विभाग का जिला में सर्वेसर्वा है. लेकिन विभाग में किसी तरह की गड़बड़ी होती है तो डीसी की जिम्मेदारी बनती है. वैसे भी जो सबसे ऊंचे पद पर होता है, उसकी जिम्मेदारी जरूर बनती है. विभाग के माध्यम से मेरे पास मामला आया तो निश्चित रूप से बोकारो डीसी से स्पष्टीकरण मागूंगा. एक कम्प्यूटर ऑपरेटर को आखिर कैसे खाद्य आपूर्ति विभाग का नाजिर बना दिया जाता है. बोकारो में डीसी के गोपनीय कोषांग में कार्यरत और खाद्य आपूर्ति विभाग में नाजिर के पद पर काम करनेवाले मुकेश कुमार की गिरफ्तारी पर खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय न्यूज विंग से बात कर रहे थे. उन्होंने माना कि विभाग में मैनपावर की कमी है. लेकिन पद की मर्यादा भी रखी जानी चाहिए.

बोकारो डीसी के पीए मुकेश कुमार को एसीबी ने 70,000 रुपए घूस लेते पकड़ा

मामले का गोपनीय से कोई नाता नहींः डीसी

एसीबी के द्वारा गोपनीय कोषांग में कार्यरत और खाद्य आपूर्ति विभाग के नाजिर मुकेश मामले में डीसी बोकारो मृत्युंजय बर्णवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस किया. उन्होंने कहा कि मुकेश कुमार भले ही गोपनीय शाखा में कार्यरत था, लेकिन उसकी गिरफ्तारी खाद्य आपूर्ति विभाग के मामले में हुई है. गोपनीय शाखा से इस मामले का कोई नाता नहीं है. वहीं उन्होंने कहा कि एसीबी ने मुकेश को गिरफ्तार किया है. जांच हो रही है. अगर मुकेश की संलिप्तता पायी जाती है तो निश्चित तौर पर उसपर कार्रवाई होगी.

इसे भी पढ़ें – किसके लिए रिश्वत वसूल रहे थे बोकारो डीसी के पीए मुकेश कुमार ?

इसे भी पढ़ें – बोकारो डीसी के पीए मुकेश कुमार को एसीबी ने 70,000 रुपए घूस लेते पकड़ा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: