न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

झारखंड में पीएम मोदी की घोषनाएं और उनका हाल!

चुनावी माहौल के वक्त प्रचार की मंशा से झारखंड आने की बात छोड़ दी जाए तो ये चौथा मौका होगा जब किसी परियोजना का शिलान्यास करने के लिए पीएम मोदी झारखंड आ रहे हैं.

853

Ranchi: प्रधानमंत्री तीसरी बार पलामू आ रहे हैं. इससे पहले वो दो बार हजारीबाग आ चुके हैं और एक बार साहेबगंज. चुनावी माहौल के वक्त प्रचार की मंशा से झारखंड आने की बात छोड़ दी जाए तो ये चौथा मौका होगा जब किसी परियोजना का शिलान्यास करने के लिए पीएम मोदी झारखंड आ रहे हैं. ऐसा देखा जाता रहा है कि पीएम मोदी जब भी किसी परियोजना का शिलान्यास करने आते हैं, तो कई सारी परियाजनाओं और लोकलुभावन सपने भी झारखंड को दिखाकर जाते हैं. लेकिन ऐसा देखा जा रहा है कि उनकी घोषणाएं जमीनी हकीकत नहीं ले पाती हैं. ऐसी ही कुछ योजनाओं के बारे में न्यूज विंग ने पड़ताल की. जानते हैं किसकी क्या स्थिति है.

20 फरवरी 2015 हजारीबाग में पीएम मोदी

झारखंड में बीजेपी की सरकार बनने के बाद पीएम मोदी का किसी परियोजना का उद्घाटन करने का पहला मौका था. पूरी राज्य सरकार उस दिन हजारीबाग में थी. केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा भी मौजूद थे. मौका था कोडरमा-हजारीबाग रेल लाइन के उद्घाटन का. पीएम मोदी ने उस दिन सभा से कहा था कि देश में कोल स्कैम का पर्दाफाश होने के बाद 204 कोल माइंस की निलामी फिर से होनी है. इसमें 40 खदान झारखंड के हैं. इन 40 खदानों में दो खदानों की निलामी हो चुकी है. निलामी की प्रक्रिया पूरी होने की वजह से झारखंड को 12.5 हजार करोड़ रुपया मिल पाया है. इसी तरह 38 और खदानों की निलामी झारखंड में होनी है. इससे झारखंड के खजाने में अरबों रुपया आएगा. तीन साल बीत गए. झारखंड का खान विभाग इन माइंस की निलामी अभी तक नहीं करा पाया है. सारी बात फाइल में ही सिमट कर रह गयी.

29 जून 2015 हजारीबाग में फिर से एक बार मोदी

हजारीबाग के बरही में कृषि अनुसंधान संस्थान का शिलान्यास करने पीएम मोदी पहुंचे थे. शिलान्यास करने के बाद झारखंड सरकार ने पीएम मोदी की मौजूदगी में इस्पात मंत्रालय, नेशनल मिनिरल डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन (एनएमडीसी) और झारखंड के बीच 12 एमटी स्टील प्लांट के लिए एमओयू किया था. इस्पात मंत्रालय के संयुक्त सचिव सैय्यदैन आबासी और झारखंड सरकार की ओर से हिमानी पांडे ने एमओयू की फाइल आदान-प्रदान की थी. मौके पर एनएमडीसी के सीएमडी नरेंद्र कोठारी भी मौके पर मौजूद थे. प्लांट के लिए पश्चिम सिंहभूम के घाटकोरी में लौह अयस्क खदान आवंटित करने की प्रक्रिया पिछले तीन साल से चल रही है. फाइलों में ही सिमट कर यह महत्वाकांक्षी परियोजना रह गयी. जिसका करार पीएम मोदी की मौजूदगी में हुआ था.

06 अप्रैल 2017 साहेबगंज में पीएम मोदी

छह अप्रैल 2017. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी साहेबगंज आये थे. 4000 करोड़ रुपये की योजनाओं का शिलान्यास व उद्घाटन किया था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने उस दिन संथाल परगना प्रमंडल के लोगों को विकास का सपना दिखाया था. कई वायदे किये थे. कुछ घोषनाएं जो पीएम मोदी ने भरी सभा के बीच की थी, जानते हैं क्या है उनका हाल.

घोषणाः  22.885 किमी लंबी साहेबगंज-मनिहारी गंगा पुल निर्माम का शिलान्यास.

हालः काम शुरू नहीं हुआ है. कई बार यहां मिट्टी सर्वे के लिए लैब में जा चुकी है. लेकिन इस सर्वे पर खास रिपोर्ट नहीं आ पाया है. जिससे काम शुरू हो सके. जमीन अधिग्रहण का काम भी बचा हुआ है.

घोषणाः साहेबगंज जिला में टूरिज्म सेंटर स्थापित किया जायेगा. इससे इलाके में रोजगार के अवसर विकसित होंगे और इलाका आर्थिक रुप से समृद्ध होगा.

हालः इस दिशा में एक भी काम नहीं हुआ है.

घोषणाः झारखंड सरकार ने साहेबगंज जिला में डेयरी प्लांट खोलने की योजना बनायी थी. जिसका शिलान्यास प्रधानमंत्री से कराया गया.

हालः साहेबगंज के महादेवगंज में जमीन चिन्हित हुई है. इसके अलावा इस दिशा में कोई काम नहीं हुआ है. 

घोषणाः मल्टी मॉडल टर्मिनल व बंदरगाह का निर्माण  

हालः इस दिशा में 75 फीसदी काम हो चुका है. बाकी बचा 25 फीसदी काम तेजी से हो रहा है.

इसे भी पढ़ें – भूख और ठंड से आदिम जनजाति की बुधनी की मौत! बहू ने किसी तरह दो दिनों में जुगाड़े पैसे, तब हुआ अंतिम संस्कार

इसे भी पढ़ें – सिमडेगा मंडल कारा के प्रभारी अधीक्षक संजय को एनोस और मधु कोड़ा के बीच मुलाकात कराना महंगा पड़ा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: