DhanbadJharkhand

पांच करोड़ की सामग्री खरीद में घोटाले का आरोप, तत्कालीन नगर आयुक्त समेत तीन पर चल रहा मुकदमा

Dhanbad : धनबाद नगर निगम अंतर्गत ई-गवर्नेंस कार्य के लिए कम्प्यूटर सामग्री एवं अन्य उपकरणों की खरीदारी की गयी थी. उपकरणों की आपूर्ति में बरती गयी अनियमितता की जांच करने के संबंध में पार्षद निर्मल मुखर्जी ने तत्कालीन सीईओ आईएएस अधिकारी मनोज कुमार सहित सात अधिकारियों पर आरोप दर्ज करवाया है. पार्षद निर्मल मुखर्जी द्वारा विभागीय पत्रांक 1817 दिनांक 5 दिसंबर 2018 को  प्राप्त मंतव्य के आधार पर प्राथमिकी दर्ज कराते हुए आपराधिक अभियोग चलाने का आग्रह किया गया था.

बता दें कि 4 करोड़ 90 लाख 84 हजार 843 रुपये के घोटाला मामले में 19 जनवरी 2017 को भुगतान किया गया था. इस मामले में नगर निगम के अधिकारी मनीष कुमार,  हरीश चंद्र पाण्डेय, कनीय पर्वेक्षक  अनिल कुमार मंडल, लेखापाल अनिल कुमार यादव, उप नगर आयुक्त, प्रदीप कुमार, अपर नगर आयुक्त और मनोज कुमार नगर आयुक्त पर मामला दर्ज करवाया गया था.

प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत ने संज्ञान लिया था

प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी शिखा अग्रवाल की अदालत ने पूरे मामले में संज्ञान लिया था. अब इस मामले की सुनवाई चल रही है जिसमें मनोज कुमार  जिला एवं सत्र न्यायाधीश से पेश भी हुए . साथ ही  मनोज कुमार ने न्यायालय से अग्रिम जमानत देने की अपील की है.

पार्षद निर्मल मुखर्जी ने कहा है कि आईएसएस अधिकारी मनोज कुमार सहित सात अधिकारियों की मिलीभगत से ई-गवर्नेंस हेतु   लगभग 5 करोड़ की कम्प्यूटर सहित अन्य सामग्री बिना किसी टेंडर के एक बार में खरीद ली गयी,  जिसमें भारी घोटाला हुआ है, जिसे लेकर हमने मामला दर्ज करवाया था. मामले में कोर्ट ने संज्ञान लिया और फिलहाल 3 अधिकारियों पर मामला चल रहा है जिसमें दोषी अधिकारी पेश भी हो रहे हैं.

इसे भी पढ़ेंःSkyWay ग्रुप की गतिविधियों पर कई देशों में जारी हो चुकी है चेतावनी, अपने देश में फल-फूल रहा धंधा

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: