JharkhandKoderma

कोडरमा में नाबालिग से दुष्कर्म के आरोपी को मिली 10 वर्ष सश्रम कारावास की सजा,10 हजार रुपए का भी लगा जुर्माना 

Koderma: नाबालिग के साथ दुष्कर्म किए जाने के एक मामले में कोडरमा व्यवहार न्यायालय के अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश तृतीय तरुण कुमार की अदालत ने आरोपी सबदर मियां को आईपीसी की 376 एवं पोक्सो एक्ट के तहत दोषी पाते हुए गुरुवार को 10 साल सश्रम कारावास की सजा सुनाई, साथ ही 10 हजार जुर्माना भी लगाया. जुर्माना की राशि नहीं दिए जाने पर 1 वर्ष अतिरिक्त सजा भुगतने की बात कही गई है. घटना 23 अप्रैल 2020 की है.  कोडरमा थाना क्षेत्र में हुई इस घटना में पीड़िता नाबालिग के दादा ने थाना में आवेदन देकर प्राथमिकी दर्ज कराया था. आवेदन में उन्होंने कहा था कि उसकी 6 वर्षीय पोती के रोने की आवाज सुनकर जब बाहर निकले तो पड़ोस का ही सबदर मियां अपने घर में बने दुकान में बच्ची के साथ दुष्कर्म करने का प्रयास कर रहा था.

जब उन्होंने आरोपी को पकड़ने की कोशिश की तो उन्हें धक्का देकर आरोपी मौके से भाग निकला. अभियोजन का संचालन लोक अभियोजक पीपी मंडल ने किया. इस दौरान सभी गवाहों का परीक्षण कराया गया. लोक अभियोजक पीपी मंडल ने कार्रवाई के दौरान न्यायालय से अभियुक्त को अधिक से अधिक सजा देने का आग्रह किया. वहीं बचाव पक्ष की ओर से अधिवक्ता सुधीर कुमार ने दलीलें पेश की. अदालत ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनने एवं अभिलेख पर उपस्थित साक्ष्यों का अवलोकन करने के उपरांत दोषी पाते हुए सजा मुकर्रर की और जुर्माना लगाया.

Related Articles

Back to top button