JharkhandRanchi

नेतरहाट फील्ड फायरिंग रेंज का अवधि विस्तार नहीं किए जाने पर निकली आभार यात्रा

Ranchi: नेतरहाट फील्ड फायरिंग रेंज का अवधि विस्तार नहीं किए जाने के सीएम हेमंत सोरेन के फैसले के प्रति नेतरहाट ग्रामीण क्षेत्र के मूल निवासियों द्वारा झारखंड के मुख्यमंत्री के प्रति आभार यात्रा निकाली गई. राजधानी रांची के डांगराटोली चौक से शहीद चौक होते हुए शहर की हृदय स्थली अल्बर्ट एक्का चौक तक निकाले गए इस आभार यात्रा में सैकड़ों लोग शामिल हुए. आभार यात्रा का आयोजन केंद्रीय जनसंघर्ष समिति की ओर से किया गया. इसमें लातेहार,गुमला समेत कई जिलों के अलावा विभिन्न आदिवासी संगठनों की भी सहभागिता रही. आदिवासी नेता अनिल पन्ना ने इस मौके पर कहा कि सरकार का निर्णय ऐतिहासिक है और यह लाखों आदिवासियों के लिए बहुत बड़ी जीत है. हालांकि पूरी तरह से अधिसूचना रद्द होने तक संघर्ष जारी रहने की भी बात कही. विदित हो कि इस प्रोजेक्ट से 245 गांव और करीब 3 लाख आदिवासी आबादी प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से बुरी तरह से प्रभावित हो रहे थे.



इसे भी पढ़े: नेतरहाट फील्ड फायरिंग रेंज को लेकर आदिवासी समुदाय का विजय जुलूस कल

गुरूवार को सीएम से मिलकर जताया था आभार
आभार यात्रा के पूर्व गुूरूवार को  मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से मुलाकात कर जनसंघर्ष समिति ने सीएम के इस फैसले के लिए उनका आभार जताया था. इस मौके पर समिति के सचिव जेरोम जेराल्ड कुजूर और रतन तिर्की ने कहा था कि अगले दो महीने के अंदर लातेहार टुटुआपानी/ जोकीपोखर धरनास्थल में गुमला-लातेहार से प्रभावित दो लाख लोग जुटेंगे और विजय दिवस मनायेंगे. इस विजय दिवस में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने भी भाग लेने की सहमति दी है.

विस्थापन के खिलाफ आंदोलन जारी रहेगा

रतन तिर्की और जेरोम जेराल्ड कुजूर ने कहा कि आंदोलन अभी खत्म नहीं हुआ है. नेताद्वय ने कहा कि झारखंड में विस्थापन के खिलाफ जंग जारी रहेगी. उन्होंने कहा कि हमलोगों ने आंदोलन कर कोयलकारो जल विद्युत परियोजना, टुडूरमा डैम गुमला और अब नेतरहाट फील्ड फायरिंग रेंज की लडाई आंदोलन के बल पर ही जीता है.

Sanjeevani

Related Articles

Back to top button