West Bengal

कोलकाताः गया से गिरफ्तार आतंकवादी ने किया खुलासा-  नाम और वेष बदल कर पुलिस को देता रहा धोखा

Kolkata:  पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) के हाथों गया के अविनाशपुर से गिरफ्तार आतंकी संगठन जमात उल मुजाहिदीन बांग्लादेश (जेएमबी) के भारतीय सरगना ने कई खुलासे किये हैं. गिरफ्तार आतंकी एजाज अहमद ने पूछताछ में कई बातें बतायी हैं.

उसने पुलिस को बताया है कि 2014 के बर्दवान ब्लास्ट के बाद से वह राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) और अन्य सुरक्षा एजेंसियों को चकमा दे रह था. नाम और वेष बदलकर रह रहा था.

वह गया जिले और आसपास के क्षेत्रों में कभी जीतू तो कभी डॉक्टर बाबू तो किसी और जगह पर एजाज मौलवी के तौर पर रह रहा था. सोमवार को हुई गिरफ्तारी के बाद उसे ट्रांजिट रिमांड पर कोलकाता लाया गया.

ram janam hospital
Catalyst IAS

इसे भी पढ़ेंः गुमला में पति ने पत्नी और बच्चे की हत्या की, पुलिस ने किया गिरफ्तार

The Royal’s
Sanjeevani

टेरर फंडिंग के लिए भी काम करता था

मंगलवार को उसे बैंकशाल कोर्ट में पेश किया गया है. जहां से 10 सितंबर तक के लिए एसटीएफ ने अपनी हिरासत में लिया है. पश्चिम बंगाल के बीरभूम का निवासी एजाज मैट्रिक फेल है. उसे आईईडी और टाइम बम बनाने में महारत हासिल है. इसके लिए वह कई बार बांग्लादेश और अन्य क्षेत्रों में जाकर प्रशिक्षण ले चुका है. पूछताछ में उसने यह भी बताया कि 2008 में वह जेएमबी से जुड़ा था.

इसके बाद से अब तक करीब 50 से अधिक लोगों को आतंकी संगठन का सक्रिय सदस्य बना चुका है. आतंकी संगठन के लिए लोगों की नियुक्ति के अलावा टेरर फंडिंग का काम भी उसी का था. पूछताछ में यह भी पता चला है कि विशेष मोबाइल एप्लीकेशन के जरिए कोड भाषा में जेएमबी के सरगना सलाउद्दीन सलाहे और कौशर से बात करता था. एसटीएफ की आईटी टीम उसके मोबाइल एप्लीकेशन एवं तथ्यों की जानकारी के मामले की जांच कर रही है.

इसे भी पढ़ेंः पलामू : स्कूल बस ने बाइक सवार कृषि मित्र संघ के जिला सचिव को कुचला, मौके पर मौत, देखें वीडियो

Related Articles

Back to top button