न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

आतंकी मॉड्यूल अबु हुजैफा अल पाकिस्तानी भारतीय युवाओं को आईएस में शामिल होने के लिए बरगलाता था 

आतंकवादी संगठन IS के जिस नये मॉड्यूल का खुलासा राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने किया है, खबरों के अनुसार वह अबु हुजैफा अल पाकिस्तानी के नाम से ऑनलाइन कंट्रोल हो रहा था.  

1,164

NewDelhi : आतंकवादी संगठन IS के जिस नये मॉड्यूल का खुलासा राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने किया है, खबरों के अनुसार वह अबु हुजैफा अल पाकिस्तानी के नाम से ऑनलाइन कंट्रोल हो रहा था.  इसे अलग-अलग ऑनलाइन प्लेटफॉर्म से संचालित किया जा रहा था, जिसके निशाने पर कई भारतीय युवा थे. सूत्रों के अनुसार यह मॉड्यूल दक्षिण-पूर्व एशिया के युवाओं को आईएस में शामिल होने के लिए बरगलाता था. फेसबुक पर संपर्क होने के बाद युवाओं को ग्रुप में जोड़ा जाता था और टेलीग्राम व थ्रीमा के जरिए चैटिंग की जाती थी. इस संबंध में इंटेलिजेंस एजेंसी के एक सूत्र ने बताया कि इस हैंडल की जांच पर जानकारी मिली है कि इसे पाकिस्तान के नागरिक द्वारा संचालित किया जा रहा था जिसे काफी बेहतर ट्रेनिंग दी गयी थी और वह पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के सहारे पर यह युवाओं को जोड़ रहा था. सू्त्रों से मिली जानकारी के अनुसार अबु हुजैफा हैंडल के बारे में सुरक्षा एजेंसियों की जांच में कई बार जानकारी मिली. बता दें कि तेलंगाना पुलिस की काउंटर इंटेलिजेंस यूनिट की जांच में भी इस हैंडल का पता चला था,  जिसके आधार पर छापेमारी से पूर्व काफी अहम जानकारी मिली.

eidbanner

पिछले साल से यह हैंडल काफी ऐक्टिव हो गया था  

एक अधिकारी ने जानकारी दी कि पिछले साल से यह हैंडल काफी ऐक्टिव हो गया था.  खबरों के अनुसार इंडियन मुजाहिदीन से बगावत कर बाद में आईएस के खोरासन मॉड्यूल में शामिल होने वाला शफी अरमार इस हैंडल को संचालित कर रहा था. शफी अरमार भारतीय युवाओं को आईएस में शामिल करने के लिए मदद करता था.  सूत्रों के अनुसार कर्नाटक निवासी अरमार को पिछले साल सीरिया में मार दिया गया.  उसने लगभग 1000 युवाओं से आईएस में शामिल होने के लिए संपर्क किया. इनमें ज्यादातर युवा दक्षिण एशिया के थे.  जानकारी के अनुसार उसका भाई सुल्तान अरमार भी दो साल पहले ड्रोन स्ट्राइक में मारा गया था.  एक अधिकारी का दावा था कि सोहैल मुफ्ती को इसलिए चुना गया क्योंकि वह हथियारों के काम में पहले शामिल रहा था. मास्टर माइंड 29 वर्षीय मुफ्ती मोहम्मद सुहैल  पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अमरोहा का रहने वाला है.

Related Posts

UN की  रिपोर्ट : हिंसा, युद्ध के कारण दुनियाभर में सात करोड़ से ज्यादा लोग विस्थापन के शिकार हुए

संयुक्त राष्ट्र की शरणार्थी एजेंसी की सालाना ग्लोबल ट्रेंड्स रिपोर्ट के अनुसार दुनियाभर में हिंसा, युद्ध और उत्पीड़न के कारण लगभग 7.1 करोड़ लोग अपने घरों से विस्थापित हुए हैं.

नये मॉड्यूल हरकत-उल-हर्ब-इस्लाम का खुलासा किया गया

बता दें कि एनआईए द्वारा बुधवार को आईएस के इस नये मॉड्यूल हरकत-उल-हर्ब-इस्लाम का खुलासा किया गया है. इसका सामान्य अनुवाद इस्लाम के हितों के लिए लड़ाई करना है. इसके लिए एनआईए ने दिल्ली और यूपी में 16 जगहों पर एक साथ छापे मार कर दस लोगों को  गिरफ्तार किया था. दिल्ली की एक अदालत ने आईएसआईएस मामले में गिरफ्तार किये गये इन 10 लोगों को गुरुवार  को 12 दिन की एनआईए हिरासत में भेज दिया है. इस मामले में  गिरफ्तार लोगों में मुफ्ती मोहम्मद सुहैल उर्फ हजरत (29), अनास युनूस (24), राशिद जफर रक उर्फ जफर (23), सईद उर्फ सैयद (28), सईद का भाई रईस अहमद, जुबैर मलिक (20), जुबैर का भाई जैद (22), साकिब इफ्तेकार (26), मोहम्मद इरशाद : करीब 20 साल : और मोहम्मद आजम (35) शामिल हैं.  

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: