न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अमरनाथ यात्रा पर आतंकी खतरा, सरकार ने एडवाइजरी जारी कर यात्रा रोकी, तीर्थयात्रियों से आग्रह, कश्मीर से लौट जायें

आतंकियों के पास से जब्त  हथियारों में पाकिस्तानी सेना की लैंड माइन और यूएस मेड गन रिकवर की गयी है

163

Srinagar : अमरनाथ यात्रा पर आतंकी खतरे की  खुफिया सूचना मिलने के बाद जम्मू-कश्मीर सरकार के प्रिंसिपल सेक्रटरी (होम) ने अमरनाथ यात्रियों और पर्यटकों के लिए एडवाइजरी जारी की है.  जम्मू-कश्मीर में अमरनाथ यात्रा में आतंकी हमले के संभावित खतरेको देखते हुए राज्य सरकार ने ए़़डवाइजरी जारी कर यात्रा पर फिलहाल रोक लगा दी है . यात्रियों को वापस जाने की हिदायत दी गयी है.  खबरों के अनुसार  सुरक्षा बलों को अमरनाथ यात्रा के रूट पर सर्च ऑपरेशन के दौरान स्नाइपर राइफल मिली है. इसके बाद सरकार ने यात्रा रोकने का फैसला किया गया.

जम्मू-कश्मीर सरकार के गृह विभाग की ओर से जारी सुरक्षा एडवाइजरी में कहा गया है कि अमरनाथ यात्रा पर आतंकी हमलों के इनपुट मिलने और कश्मीर की सुरक्षा बढ़ाने के मकसद से अमरनाथ यात्रियों और पर्यटकों की सुरक्षा को देखते हुए घाटी में तत्काल प्रभाव से सभी तरह की यात्रा पर रोक लगायी जा रही है. अमरनाथ यात्रियों को सलाह दी गयी है कि वे अपनी यात्रा को तुरंत खत्म करें और जितनी जल्दी हो सके घाटी को छोड़ दें.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

खबरों के अनुसार  सुरक्षा बलों ने शुक्रवार को अमरनाथ यात्रा पर बड़े आतंकी हमले की साजिश को नाकाम कर दिया.  सीआरपीएफ, जम्मू-कश्मीर पुलिस और सेना ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस पर इसकी जानकारी दी.  इस दौरान मौजूद अधिकारियों ने बताया कि अमरनाथ यात्रियों पर स्नाइपर से हमले की कोशिश की गयी, लेकिन सुरक्षाबलों ने इसे पूरी तरह विफल कर दिया.

उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर नाराजगी जताई

राज्य में आतंकी हमलों की आशंका को देखते हुए पर्यटकों के लिए अचानक यात्रा खत्म किये जाने संबंधी एडवाइजरी जारी करने पर  पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर नाराजगी और चिंता जताई है. उन्होंने कहा कि सीरियसली? आपने सोचा है कि एक सरकारी आदेश से पर्यटक जल्दी से घाटी छोड़कर भागने लगेंगे? कितने पर्यटक इस आदेश को देखकर भागने लगेंगे. लोगों के भागने से एयरपोर्ट और हाइवे पर जाम लग जायेगा.

इससे पहले अपने एक और ट्वीट में उमर अब्दुल्ला ने राज्य की स्थिति पर चिंता जताते हुए कहा कि यह अप्रत्याशित आदेश दर्शाता है कि अमरनाथ यात्री और पर्यटकों को आतंकी हमलों से आगाह किये जाने से घाटी में मौजूद डर और अपशगुन को कम नहीं किया जा सकता.

इसे भी पढ़ेंःवडोदरा में भारी बारिश का कहर, 200 से अधिक मगरमच्छ तालाब बन चुकी सड़कों पर घूम रहे हैं!

आतंकी अमरनाथ यात्रा पर हमला करने की योजना बना रहे हैं

भारतीय सेना की चिनार कॉर्प्स के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल केजेएस ढिल्लन और जम्मू कश्मीर पुलिस के डीजीपी दिलबाग सिंह ने आज कश्मीर में  प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते ह्ए   खुलासा किया कि आतंकी अमरनाथ यात्रा पर हमला करने की योजना बना रहे हैं. कहा कि इस साजिश में पाकिस्तानी सेना भी शामिल है.

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02

इस क्रम में  सेना के अधिकारियों ने कहा  कि कुछ आतंकियों के पास से जब्त  हथियारों में पाकिस्तानी सेना की लैंड माइन और यूएस मेड गन रिकवर की गयी है,  इससे पता चलता है कि पाकिस्तान कश्मीर में आतंकवाद फैलाने में शामिल है और अधिकारियों  ने कहा कि  इसे बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जायेगा. अधिकारियों के अनुसार पाकिस्तान कश्मीर में अशांति फैलाना चाहता है

इसे भी पढ़ें – जम्मू-कश्मीर में फिर भेजे गये 25,000 जवान, आर्टिकल 35ए से छेड़छाड़ की अफवाह

पाकिस्तान की ऑर्डिनेंस फैक्ट्री में बनी लैंड माइन बरामद

सेना के अधिकारियों के अनुसार, आतंकियों के पास जो लैंड माइन बरामद हुई है, वह पाकिस्तान की ऑर्डिनेंस फैक्ट्री में बनी है.  प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान अधिकारियों ने कश्मीर घाटी की माताओं-बहनों से भी अनुरोध करते हुए कहा कि वह अपने बच्चों को पत्थरबाजी से दूर रखें.  उन्होंने बताया कि आतंकी घटनाओं में शामिल होने वाले लड़कों में 83% पत्थरबाजी की घटनाओं में शामिल थे.

सैन्य के अधिकारी केजेएस ढिल्लन ने कहा कि मैं सभी माताओं से अपील करता हूं कि यदि आज आपका बच्चा 500 रुपए के लिए सुरक्षाबलों पर पत्थर फेंकता हैं तो वह कल को आतंकी भी बन सकता है.

लेफ्टिनेंट जनरल केजेएस ढिल्लन ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बताया कि एलओसी पर फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है. कहा कि पाकिस्तान की तरफ से घुसपैठ की कोशिशों को सफलतापूर्वक नाकाम किया जा रहा है.  डीजीपी दिलबाग सिंह  के अनुसार घाटी और जम्मू क्षेत्र में सक्रिय आतंकियों की संख्या में कमी आयी है.

इसे भी पढ़ेंः आवश्यकता हुई, तो कश्मीर पर वार्ता केवल पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय ही होगी : जयशंकर

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like