न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

टेरेसा ने फुटबाल विश्व कप की संयुक्त मेजबानी की बोली का किया समर्थन

जहां अर्जेंटीना ने पराग्वे और उरुग्वे के साथ मिलकर अप्रैल में मेजबानी के लिए दावा पेश करने फैसला किया है.

128

Delhi : ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरेसा मे ने 2030 फुटबाल विश्व कप की मेजबानी के लिए इंग्लैंड और आयरलैंड की संभावित बोली को पूरा समर्थन दिया. टेरेसा के इस बयान ने लैटिन अमेरिकी देशों की चुनौती बढ़ गयी है. जहां अर्जेंटीना ने पराग्वे और उरुग्वे के साथ मिलकर अप्रैल में मेजबानी के लिए दावा पेश करने फैसला किया है.

इंग्लैंड की टीम ने जून-जुलाई में रूस में खेले गये विश्व कप टूर्नामेंट में इंग्लैंड की युवा टीम ने उम्मीदों के विपरीत शानदार प्रदर्शन किया था. सेमीफाइनल तक का सफर तय किया था जिसके बाद प्रशंसकों में इस खेल का जुनून और देशभक्ति चरम पर है.

hosp3

विश्व कप में 48 टीमें होगी शामिल

दुनिया के सबसे बड़े टूर्नामेंट के तौर पर मशहूर फुटबाल विश्व कप में टीमों की संख्या 32 से बढ़कर 48 हो जाएगी. 2022 से कतर की मेजबानी में होने वाले विश्व कप में 48 टीमें भाग लेगी. इस बदलाव का मतलब यह है कि पर्याप्त आधारभूत संरचना वाले देश भी मेजबानी के मामले में बड़े पैमाने पर होने वाले इस प्रतियोगिता के दबाव को मुश्किल से ही झेल सकेंगे.

इसे भी पढ़ें : लुका मॉड्रिक बने ‘बेस्ट फुटबॉलर ऑफ द ईयर’, मेसी-रोनाल्‍डो को पछाड़ा

विश्व कप के 2026 सत्र की मेजबानी अमेरिका के साथ मेक्सिको और कनाडा को संयुक्त रूप से सौपी गयी हैं.

सरकार का मिलेगा पूरा समर्थन

टेरेसा ने कहा कि रूस में हुए विश्व कप में टीम के प्रदर्शन ने उन्हें इस बोली का समर्थन देने करने के लिए उत्साहित किया.

इसे भी पढ़ें : भारत की ओर से हरमनप्रीत करेंगी आईसीसी महिला विश्व टी20 की अगुवाई

उन्होंने कहा कि हाल ही में हुए विश्व कप के दौरान प्रशंसकों के उत्साह को देखते हुए इंग्लैंड फुटबाल संघ, स्कॉटलैंड, वेल्स, नॉर्दन आयरलैंड और आयरलैंड के साथ मिलकर 2030 विश्व कप की संयुक्त मेजबानी के लिए बोली लगाने की योजना बना रहा. बोली लगाने का फैसला हालांकि फुटबाल संघ का होगा लेकिन इस मुद्दे पर उन्हें सरकार का पूरा समर्थन मिलेगा.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: