GumlaMain SliderRanchi

आदिवासी कल्याण के लिए दी गयी दस करोड़ की राशि गुमला #SBI से शातिरों ने अपने खाते में की ट्रांसफर

विज्ञापन

Ranchi/Gumla: आये दिन बैंक फ्रॉड के एक से बढ़ कर एक मामले सामने आ रहे हैं. इस बार तो शातिरों ने दस करोड़ की राशि उड़ा ली. मामला गुमला के एसबीआइ बैंक का है.

खाते से राशि गायब होने के बाद अपर परियोजना निदेशक, आइटीडीए गुमला ने पुलिस को मामला दर्ज करने के लिए लिखा है.

इसे भी पढ़ेंःकोल्हान पर #JMM के दावे से #Congress के कई दिग्गज परेशान, सीटों को लेकर जिच जारी

advt

उन्होंने अपनी चिट्ठी में लिखा है कि समेकित जनजाति विकास अभिकरण, गुमला के खाता संख्या 11400473211 जो अपर परियोजना निदेशक समेकित जनजाति विकास अभिकरण एवं परियोजना निदेशक सांकेतिक जनजाति विकास अभिकरण गुमला के संयुक्त हस्ताक्षर से संचालित है. उसमें गलत तरीके से राशि का ट्रांसफर हुआ है.

निदेशक ने आगे लिखते हुए कहा है कि 26 सितंबर 2019 को भारतीय स्टेट बैंक ऑफ इंडिया गुमला शाखा से चेक संख्या 85393 से 90516700 रुपए चेक के माध्यम से ओडिशा के एक्सिस बैंक शाखा में ट्रांसफर की गयी.

चेक का क्लोन तैयार कर उड़ा ली राशि

राशि एक्सिस बैंक कोटपाल शाखा ओडिशा के खाता संख्या 918020058032444 में ट्रांसफर की गयी है. उन्होंने लिखा कि पहली नजर में यह चेक बिल्कुल फर्जी लग रहा है. क्योंकि इसी नंबर का असली चेक अभी विभाग के पास ही है.

इसे भी पढ़ेंः#SoniaGandhi ने कहा, कुछ लोग चाहते हैं गांधी नहीं, #RSS भारत का प्रतीक बन जाये

adv

उन्होंने कहा कि बैंक की तरफ से जो चेक विभाग को उपलब्ध कराया गया है, उस चेक के नीचे प्रोजेक्ट ऑफ मेसो एरिया गुमला छपा हुआ है.

लेकिन फर्जी चेक जिससे राशि ट्रांसफर हुई है उसमें कहीं भी ऐसा कुछ नहीं लिखा हुआ है.

न्यूज विंग से बात करते हुए गुमला थाना के प्रभारी ने कहा कि आवेदन आने के साथ ही मामले में एफआइआर दर्ज कर ली गयी है. जांच जारी है.

पुलिस जल्द ही किसी नतीजे पर पहुंचेगी. वहीं मामले को जानने वाले विभाग के लोगों का कहना है कि मामला क्लोन चेक का है. लेकिन चेक नंबर जानने की वजह के बारे में लोगों का कहना है कि हो ना हो कार्यालय के किसी कर्मी की मिली भगत इस पूरे काम में जरूर होगी. तभी क्लोन चेक तैयार किया जा सका है.

इसे भी पढ़ेंःसंदिग्ध आतंकी कलीमुद्दीन के खुलासे का ATS करेगी जांच, कई सफेदपोश चेहरे होंगे बेनकाब

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button