National

तेलंगाना के सीएम के चंद्रशेखर राव ने मोदी सरकार के किसान बिल को गुंडागर्दी करार दिया  

 विपक्षी दलों ने कृषि बिलों पर मतदान और विभाजन की मांग की, लेकिन अध्यक्ष ने घोषणा की कि बिल पारित हो चुके है

NewDelhi :  तेलंगाना के सीएम और सत्तारूढ़ टीआरएस के अध्यक्ष  के चंद्रशेखर राव ने मोदी सरकार के किसान बिल को सीधे गुंडागर्दी करार दिया है.  मुख्यमंत्री ने शनिवार को आरोप लगाया कि केंद्र ने ‘गुंडागर्दी  का सहारा लेकर संसद में कृषि बिलों को मंजूरी दी है. टीआरएस प्रमुख राज्य में पहली रायतु वेदिका ( किसान सुविधा केंद) का उद्घाटन कर रहे थे. इसी क्रम में  कहा कि वह कृषि कानूनों पर केंद्र के खिलाफ लड़ने के लिए अन्य दलों के नेताओं से भी बात की जायेगी.

तेलंगाना के जनगांव जिले के कोदकंदला में ‘रायतु वेदिका’ का उद्घाटन करने के बाद के. चंद्रशेखर राव ने कहा कि तेलंगाना ने पंजाब की तरह विरोध-प्रदर्शन नहीं किया है, लेकिन टीआरएस ने संसद के दोनों सदनों में कृषि बिलों का विरोध किया था.  पंजाब की सराहना करते हुए सीएम ने कहा कि तेलंगाना के लोगों को भी कृषि कानूनों का विरोध करने के बारे में सोचना चाहिए.

इसे भी पढ़ें : बिहार चुनाव : पीएम मोदी के टारगेट पर रहे राहुल-तेजस्‍वी … कहा, चेहरे से हंसी गायब हो गयी है…

ram janam hospital
Catalyst IAS

एनडीए सरकार के पास राज्यसभा में जरूरी संख्याबल नहीं था

The Royal’s
Sanjeevani

 चंद्रशेखर राव  ने कहा कि पंजाब जैसे उत्तरी राज्य नये कृषि कानूनों पर आक्रोश के साथ विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं और दशहरा के दौरान रावण के बजाय मोदी के पुतले जलाये गये थे.  आरोप लगाया कि एनडीए सरकार के पास राज्यसभा में जरूरी संख्याबल नहीं था.  विपक्षी दलों ने कृषि बिलों पर मतदान और विभाजन की मांग की, लेकिन अध्यक्ष ने घोषणा की कि बिल पारित हो चुके है.

इसे भी पढ़ें : नसीरुद्दीन शाह, जावेद अख्तर, प्रशांत भूषण समेत 130  हस्तियों ने फ्रांस हमलों के विरोध में बयान जारी किया

बड़े व्यापारियों को किसान बिल से फायदा

सीएम राव ने केंद्र के इस दावे को खारिज कर दिया कि कानूनों से किसानों को फायदा होगा.  सीएम ने कहा कि इससे बड़े व्यापारियों को ही फायदा होगा.  क्या कोई किसान दिल्ली जायेगा और वहां अपनी उपज बेचेगा? केवल कॉरपोरेट और व्यवसायी ही अपनी उपज अन्य राज्यों में बेच पायेंगे.

इसे भी पढ़ें : बिहार चुनाव : आपराधिक मामलों की जानकारी प्रकाशित-प्रसारित नहीं करने वाले 104 उम्मीदवारों को आयोग का नोटिस

Related Articles

Back to top button