न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

तेजस्वी की ‘बेरोजगारी हटाओ-आरक्षण बढ़ाओ’ यात्रा आज से, दरभंगा से होगी शुरुआत

तेजस्वी एक तीर से साध रहे दो निशाना! बेरोजगारी के बहाने बीजेपी पर वार, कांग्रेस के क्षेत्र में शक्ति प्रदर्शन की भी कोशिश

996

Patna: केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने बिगुल फूंकते हुए बेरोजगारी पर सरकार को घेरने की कोशिश की है. तेजस्वी की आज से तीन दिवसीय बेरोजगारी हटाओ-आरक्षण बढ़ाओ यात्रा दरभंगा से शुरु हो रही है. बीते दिनों रोजगार के आंकड़ों पर घिरी मोदी सरकार के खिलाफ तेजस्वी यादव का ये अभियान उन्हें घेरने की एक कोशिश है. इस यात्रा को लेकर चर्चा इसलिए भी है, क्योंकि तीन जनसभाओं में से दो ऐसे इलाके हैं, जो कांग्रेस का क्षेत्र माना जाता है. ऐसे में चर्चा है कि इस यात्रा के बहाने राजद कांग्रेस को भी अपनी ताकत दिखाने की जुगत में है.

‘बेरोजगारी हटाओ-आरक्षण बढ़ाओ’

बिहार में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने सरकार के खिलाफ बेरोजगारी पर लड़ाई का ऐलान कर दिया है. दरभंगा से शुरु हो रही इस यात्रा से पहले तेजस्वी ने सरकार के सामने अपनी मांगे भी रखी हैं. नेता प्रतिपक्ष ने मांग की है कि जातीय जनगणना कराओ और जातीय आधार पर आरक्षण बढ़ाओ. इसके अलावे उन्होंने और तीन मांगे भी रखी हैं, जिसमें एससी एसटी और ओबीसी का मिलने वाला आरक्षण बढ़ा कर 90 प्रतिशत करने.

hosp3

साथ ही अतिपिछड़ों को 40 फीसदी रिजर्वेशन देने और आखिरी मांग में उन्होंने निजी क्षेत्र में भी आरक्षण लागू करने की मांग की है. अपनी बात और मांग रखने के बाद नारे के तौर पर कहा, आर-पार करेंगे, लड़ेंगे और हक लेकर मरेंगे.

कांग्रेस को दिखानी है ताकत !

उल्लेखनीय है कि यात्रा के पहले चरण में तेजस्वी की तीन सभाएं होंगी. जिसकी शुरुआत दरभंगा से हो रही है. यहां के सांसद कीर्ति आजाद हैं, जो फिलहाल बीजेपी से निलंबित हैं, और आजाद का रुझान कांग्रेस की तरफ है.
वहीं दूसरी सभा 8 फरवरी को सुपौल में होनेवाली है. सुपौल की सांसद रंजीत रंजन हैं. यह सीट पहले से ही कांग्रेस के कब्जे में है. वहीं तीसरी सभा 9 फरवरी को भागलपुर में होगी.

ज्ञात हो कि महागठबंधन में सीटों को लेकर तनातनी जारी है. इन सबके बीच राजद अपने दम पर बिहार में बेरोजगारी हटाओ-आरक्षण बढ़ाओ यात्रा शुरू कर रहा है. ऐसे में राजनीतिक गलियारे में चर्चाएं गरम है.

इसे भी पढ़ेंः जीतनराम मांझी को बड़ा झटका

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: