न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

तलाक के अपने फैसले पर अडिग हैं तेज प्रताप, कहा- पिताजी के आने का करूंगा इंतजार

27

Ranchi : रिम्स पहुंचे लालू यादव के बेटे तेज प्रताप यादव ने अपनी तलाक की अर्जी पर मीडिया से कहा कि वह अपने फैसले पर अडिग हैं. हालांकि, इस मामले में तेज प्रताप ज्यादा कुछ बोलने से बचते भी रहे. उन्होंने यह जरूर कहा कि तलाक मामले को लेकर वह अपने पिताजी के बाहर आने का भी इंतजार करेंगे. वह 29 नवंबर को कोर्ट जायेंगे और कोर्ट का जो भी निर्णय होगा, उसका वह पालन करेंगे. इससे पहले तेज प्रताप ने शनिवार को रिम्स के पेइंग वार्ड में इलाजरत अपने पिता लालू यादव से लगभग तीन घंटे की मुलाकात की. मालूम हो कि लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने पत्नी ऐश्वर्या से तलाक लेने के लिए कोर्ट में तलाक की अर्जी दी है.

इसे भी पढ़ें- 1700 करोड़ का प्रोजेक्ट चार साल में पूरा नहीं, अब वर्ल्ड बैंक से लोन लेकर बनेंगे 25 ग्रिड, 2600…

फूट-फूटकर रोने लगे तेज प्रताप

सूत्रों के अनुसार, तेज प्रताप पिता से मिलने के दौरान फूट-फूटकर रोने लगे. उनके बीच घंटों बात हुई. दोनों बंद कमरे में बात कर रहे थे. मुलाकात के दौरान कमरे में और कोई भी मौजूद नहीं था. शनिवार को तीन लोगों की मुलाकात होनी थी, जिनमें एक ने सुबह में ही लालू यादव से मुलाकात कर ली थी. जबकि, आरजेडी के पूर्व विधायक पप्पू खान लालू से नहीं मिल पाये. दरअसल, तेज प्रताप यादव करीब तीन घंटे तक लालू से बातचीत करते रहे और समय नहीं होने के कारण पूर्व विधायक पप्पू खान लालू से नहीं मिल सके. पप्पू खान ने कहा भी कि मुझसे ज्यादा जरूरी अभी तेज प्रताप का अपने पिता से मिलना है.

इसे भी पढ़ें- छह वर्षों में राजधानी के आठ से अधिक चौक-चौराहों का काम नहीं हुआ पूरा

palamu_12

रांची में रुकने का लालू ने दिया निर्देश

कहा यह भी जा रहा है कि मुलाकात के दौरान लालू यादव ने बेटे तेज प्रताप को समझाया. लालू ने कहा कि रात में पटना जाने की कोई जरूरत नहीं है. लालू ने बेटे तेज प्रताप को शनिवार की रात रांची में ही रुकने को कहा. इसके बाद तेज प्रताप यादव सिरम टोली स्थित होटल मैपल वुड ठहरने चले गये.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: