JamshedpurJharkhand

तकनीक ने उद्योगों के लिए अवसर के द्वार खोले हैं तो चुनौतियां भी पेश की हैं : चाणक्य चौधरी

सीआईआई के तीसरे आईसीटी कॉन्क्लेव में बोले टाटा स्टील के वीपी कॉरपोरेट सर्विसेज

Jamshedpur : टाटा स्टील के वीपी (कारपोरेट सर्विसेस) और सीआईआई झारखंड स्टेट काउंसिल के चेयरमैन चाणक्य चौधरी ने कहा है कि वर्तमान समय डेटा संचालित संस्कृति का है. इसमें आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (एआई) के लोकतंत्रीकरण के साथ बिजनेस इंटेलीजेन्स के कन्वर्जेंस भी है. इस डिजिटल ट्रान्सफॉर्मेशन में उपभोक्ताओं के जीवन को बदलने के साथ ही बिजनेस के मूल्य और सामाजिक सरोकारों को बदलने की व्यापक संभावनाएं हैं. चौधरी मंगलवार को कन्फेडेरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्री (सीआईआई) झारखंड द्वारा आयोजित तीसरे आईसीटी (इन्फॉर्मेशन ऑफ कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी) कॉन्क्लेव को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि डिजिटल परिवर्तन के इस युग में नई तकनीकों ने व्यवसायों के लिए अवसर खोले हैं तो नई चुनौतियां भी पैदा की हैं. हाल के दिनों तक केवल बड़ी कंपनियों के पास नवीनतम तकनीक की पहुंच थी, लेकिन अब डिजिटल तकनीक ने छोटी कंपनियों को भी अपने दायरे में लिया है. इस विस्तार ने एक डिजिटल संस्कृति को जन्म दिया है, जो सभी व्यावसायिक कार्यों में कई फायदे ला सकती है.

Advt

डेटा से बदल रही इंडस्ट्री

इस कॉन्क्लेव के संयोजक सरजीत झा ने कहा कि व्यवसाय, डेटा का उपयोग करके खुद को बदल रहे हैं. उन्होंने कहा कि सूचना की परिवर्तनकारी शक्ति का लाभ उठाने के इच्छुक व्यवसायों के लिए एक मजबूत डेटा रणनीति विकसित करना प्राथमिकता है. स्मार्ट मैन्युफैक्चरिंग की प्रगति डिजिटल ट्विन द्वारा संभव है, जो डेटा की मदद ले रही है और किसी उत्पाद की रीयल-टाइम डिजिटल प्रतिकृति की अनुमति दे रही है. नियोजित उत्पादन प्रक्रिया की प्रतिकृति बनाकर एक डिजिटल ट्विन इंजीनियरों को उत्पाद के उत्पादन में जाने से पहले किसी भी प्रक्रिया विफलताओं की पहचान करने में सक्षम बनाता है.

अब तकनीक में निवेश कर रही कंपनियां

सीआईआई झारखंड स्टेट काउंसिल के वाइस प्रेसीडेन्ट और हाइको इंजीनियर्स प्राइवेट लिमिटेड के एमडी तापस साहू ने कहा कि उद्योग 4.0 के साथ कंपनियां नवीन तकनीकों और प्रक्रियाओं में निवेश के मूल्य को समझ रही हैं जो डेटा का अधिक कुशलतापूर्वक और तेज़ी से विश्लेषण करने में सक्षम हैं. उन्होंने आगे कहा कि आने वाले वर्षों में डिजिटल ट्विन कई उद्योगों में अग्रणी आईटी उपकरणों में से एक के रूप में उभरेंगे. विशेष रूप से विनिर्माण क्षेत्र में जहां यह कई क्षेत्रों में उत्पाद विकास और उत्पाद परीक्षण में क्रांति लाने की क्षमता रखता है. इसका मतलब यह है कि भविष्य में लगभग हर निर्मित उत्पाद का अपना डिजिटल ट्विन हो सकता है.

इसे भी पढ़ें –जियो टावर में उपकरण लगाने गये कर्मचारियों के साथ धक्का-मुक्की, पुलिस बनी रही तमाशबीन 

 

 

Advt

Related Articles

Back to top button