Corona_Updates

सैंपल कलेक्ट करनेवाले टेक्नीशियन नहीं हैं ट्रेंड, लगभग 15 प्रतिशत लोगों के स्वाब का नहीं हो पा रहा सही से कलेक्शन

Ranchi: राज्य में कोरोना की जांच में तेजी लाने के लिए स्वास्थ्य विभाग सभी प्रखंडों में जांच सुविधा मुहैया कराना चाहता है. राज्य में फिलहाल सभी जिलों के सदर अस्पताल और अनुमंडल अस्पतालों में यह सुविधा दी जा रही है. जल्द ही प्रखंड अस्पतालों में भी जांच होने लगेगी. पर, सबसे ध्यान देनेवाली बात यह है कि जितने भी स्वाब सैंपल लिये जा रहे हैं, उनमें से कई लोगों के स्वाब का कलेक्शन सही से नहीं हो पा रहा है.

राज्य में करीब 15 प्रतिशत स्वाब को दोबारा कलेक्शन के लिए भेजा जा रहा है. ऐसा इसलिए क्योंकि अधिकतर टेक्नीशियन अनट्रेंड हैं. सरकार की ओर से प्रॉपर ट्रेनिंग भी नहीं दी गयी है.

इसे भी पढ़ें – मिडिल क्लास की टूट चुकी है कमर, सत्ता को खुश करने के लिए मीडिया भटका रहा ध्यान

advt

मेडिकल कॉलेजों में भी टेक्नीशियन की कमी

राज्य में वर्तमान में पांच मेडिकल कॉलेज हैं. इन सभी मेडिकल कॉलेजों में कोरोना की जांच की जा रही है. कोरोना जांच के लिए सभी कॉलेजों के माइक्रोबायोलॉजी विभाग जिम्मेवार है. पर आलम यह है कि सभी मेडिकल कॉलेजों में लैब टेक्नीशियन की भारी कमी है. रिम्स, पीएमसीएच, एमजीएम में मात्र 40 टेक्नीशियन ही कार्यरत हैं. जिसमें में से अधिक संक्रमित हो चुके हैं. कम टेक्नीशियन होने के कारण कोरोना जांच भी प्रभावित होती है.

इसे भी पढ़ें – रोजगार की उपलब्धता दिखाने के नाम पर मनरेगा में हो रहा फर्जीवाड़ा, बरसात में भी हो रहा डोभा निर्माण

चयन तो हुआ, नहीं हुई नियुक्ति

राज्य के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स में आउटसोर्सिंग में कार्यरत लैब टेक्निशियंस का स्थायी रूप से चयन हो गया था. चयन होने के बाद भी बाद भी नियुक्ति नहीं हो पा रही है. रिम्स निदेशक का कहना है कि वे नियुक्ति करने को तैयार हैं. जो गड़बड़ियां थीं, उसकी जांच भी हो चुकी है और उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री और विभाग को नियुक्ति के लिए दो बार लिखा है पर कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली. वहीं स्वास्थ्य मंत्री ने कहा था कि दो दिनों के अंदर ट्राइबल मेडिकल एसोसिएशन और 33 लैब टेक्निशियंस के साथ बैठक कर दोनों की बातें समझेंगे जिसके बाद नियुक्ति प्रक्रिया चालू की जायेगी. पर चयनित लैब टेक्नीशियन आज तक अपने चयन का इंतजार ही कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – पैरामेडिकल कर्मियों ने शुरू की अनिश्चितकालीन हड़ताल, जांच के लिए लोग हो रहे परेशान, संक्रमण का खतरा बढ़ा

adv
advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button