न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

वेस्टइंडीज दौरे के लिए टीम इंडिया का सेलेक्शन कल, बड़ा सवाल क्या धोनी को मिलेगी जगह?

910

Mumbai: अगले महीने होने वाले वेस्टइंडीज दौरे के लिये एमएसके प्रसाद की अध्यक्षता वाली राष्ट्रीय चयन समिति शुक्रवार को भारतीय क्रिकेट टीम का चयन करेगी. इस दौरान नजरें विराट कोहली की उपलब्धता और महेंद्र सिंह धोनी के भविष्य पर टिकी होंगी.

38 वर्षीय धोनी अब बल्ले से मैच फिनिशर की भूमिका नहीं निभा पा रहे हैं. उन्होंने अभी तक अपने संन्यास के बारे में कुछ नहीं कहा है, लेकिन इसे लेकर अटकलों का बाजार गर्म है.

भारत को तीन अगस्त से शुरू हो रहे वेस्टइंडीज दौरे पर टी-20, वनडे और दो टेस्ट खेलने हैं.

इसे भी पढ़ेंःलोहरदगा : मुठभेड़ में JJMP के तीन उग्रवादियों को पुलिस ने किया ढेर, दो AK-47 बरामद

धोनी होंगे सेलेक्ट?

अगले साल ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 विश्व कप को ध्यान में रखकर चयनकर्ता युवा ऋषभ पंत को मौका दे सकते हैं, जिन्हें धोनी का वारिस माना जा रहा है.

धोनी को पिछले साल अक्तूबर में वेस्टइंडीज और ऑस्ट्रेलिया में टी-20 श्रृंखला के लिये नहीं चुना गया था. ऐसी पूरी संभावना है कि वह इस बार भी बाहर रहें.

पंत को विश्व कप में चोटिल शिखर धवन की जगह बुलाया गया था, जिसमें भारत सेमीफाइनल में बाहर हो गया.

एक और मसला कोहली की उपलब्धता का होगा जो लंबे समय से खेल रहे हैं. कइयों का मानना है कि आगे लंबे घरेलू सत्र को देखते हुए कोहली को आराम दिया जाना चाहिये और ऐसे में रोहित शर्मा छोटे प्रारूप में कप्तानी कर सकते हैं.

दोनों टेस्ट चूंकि आईसीसी टेस्ट चैम्पियनशिप का हिस्सा हैं तो कोहली टेस्ट टीम में रहेंगे. तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह के बारे में भी यही फैसला लिया जा सकता है.

इसे भी पढ़ेंःचेन्नई में सड़क हादसे में चतरा के 10 मजदूरों की मौत

चौथे नबंर पर बैटिंग का मसला अबतक नहीं सुलझा

चयन समिति मध्यक्रम के संयोजन पर भी बात करेगी, जो विश्व कप सेमीफाइनल से भारत के बाहर होने का अहम कारण रहा. चौथे नंबर को पक्का करना बेहद जरूरी है.

समझा जाता है कि मध्यक्रम को लेकर सबसे ज्यादा माथापच्ची होगी. चयनकर्ताओं के पास कर्नाटक के मयंक अग्रवाल और मनीष पांडे और मुंबई के श्रेयस अय्यर के रूप में विकल्प हैं, जो घरेलू सर्किट पर लगातार अच्छा खेल रहे हैं.

पांडे ने वेस्टइंडीज ‘ए’ के खिलाफ भारत ‘ए’ के लिये 100 रन बनाये थे. अंबाती रायुडू के रिटायर होने और विजय शंकर के नाकाम रहने से उनके लिये दरवाजे खुल सकते हैं.

चयनकर्ता युवा शुभमान गिल और पृथ्वी साव के नाम पर भी विचार कर सकते हैं हालांकि साव कूल्हे की चोट से जूझ रहे हैं.

दिनेश कार्तिक और केदार जाधव के नाम पर विचार की संभावना नहीं है, जो विश्व कप में नाकाम रहे. केएल राहुल, हार्दिक पंड्या, कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल का चयन तय है.

नये चेहरों में राहुल चाहर और नवदीप सैनी के अलावा खलील अहमद, दीपक चाहर और आवेश खान पर भी विचार किया जा सकता है .

टी-20 मैच तीन से छह अगस्त तक खेले जायेंगे, जबकि वनडे आठ से 14 अगस्त और टेस्ट 22 अगस्त से तीन सितंबर तक खेले जाने हैं.

इसे भी पढ़ेंःमेन रोड की सड़क पर पार्किंग वसूलने वाला निगम न्यूक्लियस मॉल के सामने क्यों नहीं वसूलता पार्किंग शुल्क

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
झारखंड की बदहाली के जिम्मेदार कौन ? भाजपा, झामुमो या कांग्रेस ? अपने विचार लिखें —
झारखंड पांच साल से भाजपा की सरकार है. रघुवर दास मुख्यमंत्री हैं. वह हर रोज चुनावी सभा में लोगों से कह रहें हैं: झामुमो-कांग्रेस बताये, राज्य का विकास क्यों नहीं हुआ ?
झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन कह रहें हैं: 19 साल में 16 साल भाजपा सत्ता में रही. फिर भी राज्य का विकास क्यों नहीं हुआ ?
लिखने के लिये क्लिक करें.

you're currently offline

%d bloggers like this: