Corona_UpdatesRanchi

#CoronaLockdown : मुख्यमंत्री राहत कोष में शिक्षक संघ के पदाधिकारी व शिक्षक जमा करेंगे एक दिन का वेतन

Ranchi: अखिल झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ झारखंड प्रदेश कोरोना वायरस के खतरे से निपटने के लिए संघ के पदाधिकारी व शिक्षक अपना एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में दान करेंगे. संघ के अध्यक्ष बिजेंद्र चौबे, महासचिव राममूर्ति ठाकुर व मुख्य प्रवक्ता नसीम अहमद ने संयुक्त रुप से इस बात का आह्वान किया है.

राज्य के समस्त शिक्षक अपने 1 दिन के वेतन के समतुल्य राशि मुख्यमंत्री राहत कोष सी एम आर एफ में ऑनलाइन ट्रांसफर के माध्यम से जमा करेंगे. ये राशि बैंक खाते में हस्तांतरित करेंगे. संघ के सभी जिला अध्यक्ष महासचिव अपने-अपने जिले में नियमित शिक्षकों द्वारा भेजी गयी राशि की जानकारी प्राप्त करेंगे.

साथ ही प्रतिदिन राशि रात्रि 8:00 बजे अखिल झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ सेंट्रल व्हाट्सएप ग्रुप में अपने जिलों से शिक्षकों द्वारा जमा भेजी गयी राशि का अंकित कर राज्य को अवगत करायेंगे. संबंधित शिक्षक ऑनलाइन ट्रांसफर का ट्रांजैक्शन हिस्ट्री अपने पास सुरक्षित रखेंगे, जिससे भविष्य में आयकर संबंधी कार्य में उन्हें मदद मिलेगी. मानवता के हित में ये एक सराहनीय कार्य है.

Sanjeevani

इसे भी पढ़ें – #CoronavirusOutbreak: DGP ने सभी SP व DIG के साथ की बैठक, कम्युनिटी किचन को प्रभावी बनाने का निर्देश

रोज कमाने वाले लोगों की मदद करें सभी – संघ

संघ के पदाधिकारियों ने शिक्षकों से कहा है कि आप सभी शिक्षकों की शत-प्रतिशत सहभागिता अपेक्षित है, इसलिए यह आवश्यक है कि सभी एक दूसरे को इस कार्य के लिए प्रोत्साहित करें और एक मुहिम चलाया जाये ताकि मुख्यमंत्री राहत कोष में संघ और शिक्षकों की ओर से एक बड़ी राशि जमा हो पाये.

संघ ने यह भी अपील की है कि आपके आसपास रोजमर्रा के छोटे-मोटे काम करने वाली (जैसे घूम-घूम के जूता चप्पल सिलाई करने वाले/ठेले,खमोचे पर कुछ सामान बेचने वाले/ रिक्शा चलाने/ कुली, मजदूर या रोज कमाने खाने वाले आदि) कई ऐसे लोग मिलेंगे, जिनकी अगले 10-15 दिनों में आर्थिक स्थिति दयनीय हो सकती है.

इसके अलावा उन्होंने कहा कि प्रतिदिन कमाकर अपना परिवार चलाने वाले अल्प आय वाले लोगों को होने वाली परेशानियों का अंदाजा लगाया जा सकता है. कुछ ऐसे भी लोग होंगे, जो बेघर हैं और मांगकर अपना गुजारा करते हैं. तो ऐसी स्थिति में जो भी लोग समर्थ हैं, ऐसे सभी लोगों की जिम्मेदारी बनती है कि अगर हमें ऐसा कोई व्यक्ति दिखे तो उसकी सहायता की जाये.

ताकि वह भूखा ना रहे और कोरोना से बचाव संबंधी एहितायत बरतने के चक्कर में कोई भोजन के अभाव में भूख से ना मर जाये. संघ की ओर से कहा कि हर एक भारतवासी का कर्तव्य बनता है और सरकार की भी अहम जिम्मेवारी है.

इस महाअभियान में राज्य कमेटी निर्देश जारी करती है कि संघ के प्रदेश समिति सदस्य,प्रमंडलीय अध्यक्ष, महासचिव जिला अध्यक्ष महासचिव प्रखंड अध्यक्ष महासचिव कमेटियां अपनी टीम के साथ और सदस्यों को इस मुहिम से निपटने और हालात पर पैनी नजर रखते सहयोग करने की उम्मीद रखती है.

इसे भी पढ़ें –#Lockdown21: धनबाद में भारत सरकार लिखी हुई गाड़ी में ढोयी जा रही थी सवारी, पुलिस ने करायी उठक-बैठक

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button