JharkhandPalamu

पलामू डीसी के जनता दरबार में निलंबनमुक्त हुई शिक्षिका, निलंबन अवधि का भी मिलेगा वेतन

  • डीसी के जनता दरबार में फरियादियों की समस्याओं का तेजी से हो रहा निपटारा
Sanjeevani

Palamu : पलामू डीसी के साप्ताहिक जनता दरबार में आनेवाले आवेदनों पर कार्रवाई तेज कर दी गयी है. कई तरह की समस्याओं के समाधान का प्रयास किया जा रहा है. डीसी से आग्रह के बाद जहां एक सहायक शिक्षिका निलंबनमुक्त हुई है, वहीं कई लोगों की पेंशन स्वीकृति सहित अन्य मामलों का निपटारा किया गया है.

MDLM

बता दें कि डीसी शशि रंजन द्वारा मंगलवार और शुक्रवार को जनता दरबार लगाया जाता है. इनमें से कुछ मामलों का ऑन स्पॉट निपटारा किया जाता है. वहीं, अन्य मामलों को संबंधित पदाधिकारी के पास निष्पादन हेतु अग्रसारित कर दिया जाता है. संबंधित पदाधिकारी को 15 दिनों के भीतर उक्त मामलों के निराकरण का निर्देश दिया जाता है. इस तरह की कार्यप्रणाली से समस्याओं के निराकरण में तेजी आयी है.

इसे भी पढ़ें- सरकार ने लक्ष्मी विलास बैंक के डीबीएस बैंक में विलय को मंजूरी दी, निकासी की सीमा भी हटायी

सहायक शिक्षिका हुई निलंबनमुक्त

जिले के हुसैनाबाद के स्तरोन्नत उच्च विद्यालय की सहायक शिक्षिका रजनी विशाल ने जनता दरबार में पहुंचकर डीसी से खुद को निलंबनमुक्त करने का अनुरोध किया था. इस पर डीसी ने जिला शिक्षा अधीक्षक को जांच कर उचित कार्रवाई करने का निर्देश दिया था. जिला शिक्षा अधीक्षक ने पूरे मामले की जांच कर सहायक शिक्षिका को निलंबनमुक्त कर दिया. वहीं, रजनी विशाल को निलंबन अवधि का पूर्ण वेतन भी देय होगा.

डीसी के जनता दरबार में सबसे अधिक लोग पेंशन की मांग को लेकर पहुंचते हैं. जिले के विभिन्न प्रखंडों से लोग वृद्धा पेंशन, विधवा पेंशन एवं दिव्यांग पेंशन की स्वीकृति को लेकर अनुरोध करते हैं. डीसी द्वारा ऐसे सभी आवेदनों को संबंधित बीडीओ को अग्रसारित कर 15 दिनों के भीतर उचित कार्रवाई करने का निर्देश दिया जाता है. सदर बीडीओ ने पेंशन से संबंधित पांच मामलों को 15 दिनों के भीतर स्वीकृति दी है, जिनमें विधवा पेंशन समेत दो दिव्यांग पेंशन शामिल हैं.

वहीं, प्रखंड की सरजा पंचायत में मुख्यमंत्री राज्य आदिम जनजाति पेंशन योजना के तहत भी स्वीकृति प्रदान की गयी है. इसी तरह लेस्लीगंज बीडीओ द्वारा 15 दिनों के भीतर पेंशन से संबंधित आठ मामलों की स्वीकृति प्रदान की गयी है.

इसे भी पढ़ें- गुलाबो सिताबो, छपाक जैसी फिल्मों को पीछे छोड़ते हुए ऑस्कर में भारत का प्रतिनिधित्व करेगी ‘जलीकट्टू’

Related Articles

Back to top button