न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रेन वाटर हार्वेस्टिंग की गलत जानकारी दे कर ली टैक्स में छूट, अब निगम करेगा जांच

240

Ranchi: राजधानी में बने कई भवनों मालिकों ने होल्डिंग टैक्स जमा करने और टैक्स में छूट लेने के लिए निगम के अधिकारियों को वाटर हार्वेस्टिंग से जुड़ी गलत जानकारी दी है. यह जानकारी भवन मालिकों ने सेल्फ असेसमेंट फॉर्म द्वारा के दी है. कई शिकायतें मिलने के बाद निगम ने अपने स्तर पर जांच करने का काम शुरू करने का फैसला किया है. पहले चरण में निगम शहर की बहुमंजिली इमारतों के रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम की जांच करायेगा. उसके बाद नगर निगम छोटे भवनों के रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम की भी जांच करेगा.

इसे भी पढ़ें – गिरिराज के बयान पर गरमायी सियासत, तेजस्वी का BJP प्रत्याशी के बहाने नीतीश पर वार

2016 में लागू हुई थी नियमावली

hosp3

निगम क्षेत्र में नये होल्डिंग टैक्स नियमावली को वर्ष 2016 में लागू किया गया. बनायी गयी नयी नियमावली में यह प्रावधान किया गया था कि जिन भवनों के पास रेन वाटर हार्वेस्टिंग नहीं होगा. उन भवनों से डेढ़ गुणा टैक्स राशि वसूली जाएगी. निगम के इस कड़े कानून को देखते हुए ही हजारों भवन मालिकों ने अपने सेल्फ असेसमेंट फॉर्म में निगम को यह जानकारी दी कि उनके भवन में रेन वाटर हार्वेस्टिंग है. जबकि माना यह जा रहा है कि यह जानकारी गलत है. इसके बाद ही निगम ने ऐसे भवनों की जांच करने का फैसला किया है.

इसे भी पढ़ें – मोदी के बायोपिक की सार्वजनिक स्क्रीनिंग एक खास पार्टी को पहुंचायेगी फायदा : चुनाव आयोग

मात्र 32,000 हजार घरों की है सूची

वित्तीय वर्ष 2018-19 के आंकड़ों के मुताबिक वर्तमान में 1.80 लाख मकानों में से केवल 32 हजार मकान ही ऐसे हैं, जहां रेन वाटर हार्वेस्टिंग का निर्माण हुआ है. करीब 1.48 लाख ऐसे मकान हैं, जिनमें रेन वाटर हार्वेस्टिंग की सुविधा नहीं है. सेल्फ असेसमेंट के तहत इतने ही लोगों ने अपने घरों में इस सुविधा की बात कही है. हालांकि निगम ने इन भवनों की वास्तविकता अभी तक जांची नहीं है.

इसे भी पढ़ें- 98 फीसदी जनता की राय : क्रिमिनल बैकग्राउंड के लोग ना बने हमारे नेता

सड़कों की चौड़ाई की भी होगी जांच

इसके साथ ही निगम इन इमारतों के सामने बनी सड़कों की चौड़ाई की भी जांच करेगा. यह भी जानकारी है कि राजधानी में भवनों के होल्डिंग टैक्स का निर्धारण इस बार सड़कों की चौड़ाई पर हुआ है. ऐसे में होल्डिंग जमा करनेवाले भवनों की संख्या काफी अधिक हो गयी है. इन मालिकों ने अपने टैक्स को बचाने के लिए सड़कों की चौड़ाई को कम करके फॉर्म में दर्शाया है.

इसे भी पढ़ें – 27 को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की चुनावी सभा रांची में

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: