JharkhandRanchiTOP SLIDER

रांची-धनबाद में टैक्स वसूलनेवाली कंपनी सवालों के घेरे में

श्री पब्लिकेशन पर सरकार नाराज

Nikhil Kumar

Ranchi : राजधानी रांची और धनबाद नगर निगम क्षेत्र में टैक्स वसूलने के लिए चुनी गयी नयी कंपनी श्री पब्लिेकशन एंड स्टेशनर्स प्राइवेट लिमिटेड अब सवालों के घेरे में आ गयी है. इसके परफॉरमेंस पर सवाल उठ रहा है. धनबाद नगर निगम क्षेत्र में तो इस एजेंसी के खिलाफ बड़ी संख्या में शिकायतें मिली हैं. राजस्व संग्रहण,होल्डिंग,वाटर कनेक्शन और ट्रेड लाइसेंस बनाने का काम कंपनी सही से पूरा नहीं कर पा रहा है.

इस वजह से सरकार को करोड़ों के राजस्व की क्षति हुई है. नगर विकास विभाग ने इसके कार्यों की समीक्षा की है. धनबाद नगर निगम क्षेत्र में जनवरी से अब तक किए गये राजस्व संग्रहण में भारी गिरावट दर्ज की गयी है.

इसके अलावा ट्रेड लाइसेंस जारी करने का काम भी बड़े पैमाने पर लंबित है. विभाग ने इसे संतोषप्रद नहीं माना है और कार्रवाई की चेतावनी दी है.

advt

एजेंसी को कहा गया कि धनबाद नगर निगम में अलग-अलग टीम गठित करते हुए हाउसहोल्ड कवरेज बढायें और ऑनलाइन पेडिंग केस जल्द निपटायें.

इसे भी पढ़ें :अफसरों-कर्मियों के प्रमोशन का मामला- खंगाली जा रहीं 21 साल की फाइलें

अनुभवहीन और कम मैनफोर्स के साथ काम

धनबाद नगर आयुक्त ने राजस्व कलेक्शन में गिरावट के कारणों पर विभाग को जवाब देते हुए कहा है कि मेसर्स श्री पब्लिकेशन स्टेश्नर्स प्राइवेट लि. के पास अनुभवहीन कर्मी है और पर्याप्त संख्या में मैनफोर्स भी नहीं है.

ऐसे में कंपनी सही तरीके से काम नहीं कर रही है. कई बार एजेंसी को कहा गया है कि मैनफोर्स बढ़ाये पर ठोस कार्रवाई नहीं हुई है.

इसे भी पढ़ें :‘#jssc_नियमावली में सुधार_करो’ हैशटैग के साथ बेरोजगार कर रहे विरोध

एजेंसी ने मांगा तीन माह का समय

एजेंसी ने सरकार के समक्ष अपना पक्ष रखा है और कहा कि उसे तीन माह का और समय दिया जाये. इस दौरान अनुभवी मानवबल की नियुक्ति करते हुए बेहतर काम किया जायेगा. एजेंसी के निदेशक दीपांकन के इस अनुरोध को विभाग ने मान लिया और अधिकारियों को कहा है कि हर 15 दिन में इसके कार्यो की समीक्षा की जाये.

इसे भी पढ़ें :आजसू पार्टी ने सरकार पर लगाया वादाखिलाफी और सरकारी संसाधनों के दुरुपयोग का आरोप, लगातार चलायेगी आंदोलन

रांची में 37 हजार ट्रेड लाइसेंस लंबित

नगर विकास विभाग की एजेंसी सूडा ने रांची व धनबाद नगर निगम में तीन साल तक राजस्व संग्रहण के लिए टेंडर जारी कर श्री पब्लिकेशन का चयन किया था. कंपनी की लापरवाही से धनबाद जिले में 12 हजार से अधिक ट्रेड लाइसेंस के आवेदन पेडिंग है. वहीं रांची में 37 हजार आवेदन लंबित है.

इसे भी पढ़ें :ऑक्सीजन के अभाव में राज्य में हुई मौत हुई की जानकारी दें सीएमः दीपक प्रकाश

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: