BusinessJamshedpurJharkhand

Tata Steel Digitalization : 2025 तक पूरी तरह डिजिटल हो जायेगी टाटा स्टील, जानिए बेहतर तकनीक के लिए टाटा स्टील को मिला कौन सा अवार्ड

Jamshedpur : टाटा स्टील के जमशेदपुर स्टील प्लांट को विश्व आर्थिक मंच के चौथे औद्योगिक क्रांति लाइटहाउस के रूप में मान्यता दी गयी है. टाटा स्टील ग्लोबल लाइटहाउस नेटवर्क में तीन विनिर्माण स्थलों के साथ कुछ उद्यमों में से एक है, जिसमें कलिंगनगर प्लांट (भारत) और आइजेमुइडेन (नीदरलैंड) अन्य दो साइट हैं.

टाटा स्टील के सीइओ और एमडी टीवी नरेंद्रन को दावोस में वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम के ग्लोबल लाइटहाउस नेटवर्क डिनर में मैकिंजे एंड कंपनी के सीनियर पार्टनर एन्नो डी बोअर और फ्रैंसिस्को बेट्टी हेड, शेपिंग द फ्यूचर द्वारा यह पुरस्कार प्रदान किया गया.

टाटा स्टील के लिए यह गौरव का पलः नरेंद्रन
टाटा स्टील के सीइओ और एमडी टीवी नरेंद्रन ने कहा कि टाटा स्टील में हम सभी के लिए यह गर्व का क्षण है, क्योंकि जमशेदपुर प्लांट और ओडिशा स्थित कलिंगनगर संयंत्र यूरोप के हमारे आइजेमुइडेन प्लांट के साथ विश्व आर्थिक मंच के प्रतिष्ठित लाइटहाउस नेटवर्क में शामिल हो गया है. यह सम्मान कंपनी के अत्याधुनिक उपकरणों में निवेश की प्रभावशीलता और वित्तीय और परिचालन प्रभाव को बढ़ाने के लिए उन्नत प्रौद्योगिकी और विश्लेषण के उपयोग में नेतृत्व का प्रमाण है, जिससे टाटा स्टील के संयंत्र विश्व स्तर पर सबसे उन्नत इस्पात संयंत्रों में शामिल हो गये हैं.

Catalyst IAS
SIP abacus

ग्लोबल लाइट हाउस नेटवर्क एक समुदाय है
ग्लोबल लाइटहाउस नेटवर्क उत्पादन स्थलों और अन्य सुविधाओं का एक समुदाय है जिसमें चौथी औद्योगिक क्रांति के नेता शामिल हैं. लाइटहाउस चौथी औद्योगिक क्रांति की तकनीक जैसे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, थ्रीडी प्रिंटिंग और बिग डेटा एनालिटिक्स को लागू करते हैं, ताकि बड़े पैमाने पर दक्षता और प्रतिस्पर्धा को अधिकतम किया जा सके. यही नहीं, इसका मकसद बिजनेस मॉडल को बदलने और आर्थिक विकास को गति प्रदान करने के साथ पर्यावरण की रक्षा करना है. ग्लोबल लाइटहाउस नेटवर्क, मैकिंजे एंड कंपनी के सहयोग से एक विश्व आर्थिक मंच की पहल है, और कारखानों को एक स्वतंत्र पैनल द्वारा चुना जाता है.

MDLM
Sanjeevani

टाटा स्टील ने नयी तकनीक में किया निवेश
कोविड-19 महामारी के दौरान टाटा स्टील ने चौथी औद्योगिक क्रांति प्रौद्योगिकियों में अपने पिछले निवेशों का लाभ उठाया, ताकि परिचालन क्षेत्रों में कोविड के उचित व्यवहार और लॉकडाउन के दौरान व्यापार निरंतरता सुनिश्चित करने के साथ-साथ काम करने के नये तरीकों को अपनाना जारी रखा जा सके. टाटा स्टील डिजिटल तकनीकों को अपनाने के माध्यम से 2025 तक डिजिटल स्टील बनाने में अग्रणी बनने का इरादा रखते हुए एक बहु-वर्षीय डिजिटल सक्षम व्यापार परिवर्तन यात्रा पर है. इस प्रक्रिया में कंपनी का इरादा पर्याप्त एबिडटा सुधार उत्पन्न करना है, और एक संगठन के रूप में अधिक चुस्त, व्यावहारिक और बुद्धिमान होने के लिए अपनी कार्य प्रथाओं को विकसित करते हुए अपने डिजिटल परिपक्वता और हितधारक अनुभव को बढ़ाना है.

ये भी पढ़ें- Jamshedpur Union Politics : इंतजार करते रहे नेता, नहीं आए अनूप सिंह, टाटा कमिंस कर्मचारी यूनियन चुनाव पर नहीं हो सका कोई फैसला

Related Articles

Back to top button