JamshedpurNationalNEWSSports

Tata Steel Chess India : अब महिला शतरंज टूर्नामेंट भी होगा, पुरुषों के समान होगी पुरस्कार राशि

Jamshedpur : टाटा स्टील शतरंज इंडिया (टीएससीआई) ने अपने चौथे संस्करण में महिला टूर्नामेंट आयोजित करने का फैसला लिया है. यह टूर्नामेंट 29 नवंबर से 4 दिसंबर 2022 तक कोलकाता में होगा. शीर्ष अंतरराष्ट्रीय ग्रैंडमास्टर, शीर्ष भारतीय पुरुष और महिला ग्रैंडमास्टर, युवा भारतीय प्रतिभाएं और विश्वनाथन आनंद टूर्नामेंट के राजदूत और सलाहकार के रूप में इस साल की प्रतियोगिता को समृद्ध करेंगे. खेल के इतिहास में पहली बार पुरुष और महिला वर्ग दोनों के लिए पुरस्कार राशि समान होगी.

नामचीन महिला खिलाड़ी हिस्सा लेंगी
जिन महिला ग्रैंडमास्टरों ने पहले ही अपनी भागीदारी की पुष्टि कर दी है, उनमें यूक्रेन की अन्ना और मारिया मुज्यचुक, जॉर्जिया की नाना डेजाग्निडेज और पोलैंड की अलीना काशलिंस्काया शामिल हैं. भारतीय शतरंज सुपरस्टार कोनेरू हंपी और हरिका द्रोणवल्ली उभरते हुए स्टार वैशाली आर के साथ शामिल होंगी. ये सभी चेन्नई में हाल ही में संपन्न शतरंज ओलंपियाड में कांस्य विजेता टीम की हिस्सा थीं. इस अवसर पर टाटा स्टील चेस इंडिया के राजदूत विश्वनाथन आनंद ने कहा, “मुझे बेहद खुशी है कि आज शतरंज को मुख्यधारा का खेल माना जाता है. टाटा स्टील शतरंज इंडिया जैसे टूर्नामेंट जहां हमारे युवा खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय ग्रैंडमास्टर्स के साथ खेलते हैं, वास्तव में नये चैंपियन बनाने में मदद करता है.  आज भारत को शतरंज का शक्ति-घर माना जाता है, जिसमें पुरुष और महिला दोनों खेल में उत्कृष्ट हैं. पुरुष वर्ग के समान पुरस्कार राशि के साथ महिला टूर्नामेंट की शुरुआत एक स्वागत योग्य कदम है और एक उत्कृष्ट पहल है. हमें उम्मीद है कि इसे शतरंज के प्रति उत्साही लोगों द्वारा भी पसंद किया जाएगा. शतरंज एक समान खेल है और होना चाहिए.”

हम खुश है कि इस साल महिला टूर्नामेंट भी होगा : चौधरी
इस अवसर पर बोलते हुए, टाटा स्टील के कॉर्पोरेट सर्विसेज के उपाध्यक्ष चाणक्य चौधरी ने कहा कि हमें यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि टाटा स्टील शतरंज इंडिया के इस साल के संस्करण में एक महिला टूर्नामेंट भी शुरू होगा. इसे शुरू करने के लिए फिडे के ‘ईयर ऑफ द वूमन इन चेस’ से बेहतर साल और क्या हो सकता है. यह आयोजन युवा भारतीय प्रतिभाओं को शीर्ष अंतरराष्ट्रीय ग्रैंडमास्टर्स के खिलाफ खेलने का मौका देगा. टाटा स्टील चेस इंडिया सार्थक गतिविधियों के माध्यम से समुदायों के साथ जुड़ते हुए एक समान और विविध वातावरण बनाने के लिए प्रयासरत है. पिछले वर्षों में हमें जो उत्साह और भागीदारी मिली है, उससे हम उत्साहित हैं और इस विश्व स्तरीय शतरंज प्रतियोगिता को और बेहतर बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं.

Sanjeevani

शतरंज को बढ़ावा दे रहा है टाटा स्टील शतरंज इंडिया : चौहान
भरत सिंह चौहान एआईसीएफ के सचिव ने कहा कि शतरंज को बढ़ावा देने के लिए एक राष्ट्रीय निकाय के रूप में हम देश के लोगों से इस खेल के प्रति पुनरुत्थान और नए सिरे से रुचि देखकर बेहद खुश हैं. हाल ही में संपन्न हुआ शतरंज ओलंपियाड भारत में शतरंज के बढ़ते महत्व का एक उदाहरण है. पिछले कुछ वर्षों में टाटा स्टील चेस इंडिया इस खेल को लोकप्रिय बनाने और इस खेल को देश के कोने-कोने तक ले जाने में मदद कर रहा है. और इस साल महिला टूर्नामेंट का जुड़ना एक स्वागत योग्य विकास है.

इसे भी पढ़ें – गिरिडीह में मुखिया पति की करतूत, आठ साल की बच्ची से किया दुष्कर्म

 

 

Related Articles

Back to top button