Business

ऑटो सेक्टर में जारी सुस्ती के बाद भी कर्मचारियों की छंटनी नहीं करेगी टाटा मोटर्स

New Delhi: टाटा मोटर्स घरेलू वाहन बाजार में जारी सुस्ती के बाद भी कर्मचारियों की छंटनी नहीं करेगी. कंपनी को अगले कुछ महीनों में बाजार में उतारे जाने वाले नये उत्पादों के दम पर प्रदर्शन में सुधार की उम्मीद है.

कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और प्रबंध निदेशक गुंटर बटशेक ने यह जानकारी दी. उनसे यह सवाल पूछे जाने पर कि क्या वाहन क्षेत्र में जारी नरमी के कारण कंपनी कर्मचारियों की छंटनी कर सकती है, उन्होंने कहा कि हमारी ऐसी कोई योजना नहीं है.

इसे भी पढ़ें- #PM-CM डबल इंजन की बात करते हैं, पर नहीं बताते एक इंजन फेल हो गया- केंद्र नहीं दे रहा GST का 825 करोड़ बकाया

हम बाजार से बेहतर प्रदर्शन करने को तैयार: बटशेक

बटशेक ने कहा कि यदि कंपनी की ऐसा कुछ करने की योजना होती तो वह पहले ही कर चुकी होती. उन्होंने कहा कि हम 12 महीने से नरमी के संकट से जूझ रहे हैं. यदि हम छंटनी करना चाहते तो हम पहले ही कर चुके होते.

उन्होंने कहा कि कंपनी अगले कुछ महीने में एल्ट्रोज, नेक्सन ईवी और ग्रैविटास एसयूवी समेत अन्य उत्पाद बाजार में उतारने वाले हैं. उन्होंने कहा कि मुझे यकीन है कि अर्थव्यवस्था चाहे जिस दिशा में जाये, हम बाजार से बेहतर प्रदर्शन करने के लिये तैयार हैं. चूंकि ये उत्पाद विभिन्न कीमत दायरे के हैं, हमारे मुनाफे की संभावनाएं हमेशा की तुलना में बेहतर स्थिति में है. इसलिए मैं काफी पोजेटिव हूं.

इसे भी पढ़ें- बीजेपी पर खनिज संपदा लूटने का आरोप लगा हेमंत ने कहा, “केंद्र के भीख की राज्य को जरूरत नहीं”

इस समय कर्मचारियों की छंटनी करने की कोई जरूरत नहीं

बटशेक ने कहा कि कंपनी मौजूदा स्थिति को पलटने के लिये कमर्शियल व्हीकल सेक्टर में सभी आवश्यक कदम उठा रही है. यह क्षेत्र रेवेन्यू के मामले में कंपनी का आधार रहा है.  उन्होंने कहा कि हमारे पास सही उत्पाद हैं, हमारा डीलर नेटवर्क अभी बढ़िया काम कर रहा है और हमें लगता है कि वास्तव में हम ‘लहर’ पर सवार हो सकेंगे.

उन्होंने कहा कि कंपनी के पास लागत में कमी लाने और गुणवत्ता नियंत्रित करने के कदम उठाने समेत हर प्रकार की व्यवस्थाएं हैं. उन्होंने कहा कि इस समय कर्मचारियों की छंटनी करने की कोई जरूरत नहीं है, क्योंकि हमें उस समय श्रमशक्ति की जरूरत होगी जब बाजार बढ़ रहा होगा.

हालांकि, बटशेक ने माना कि उन्होंने अपने 30 साल के करियर में अब तक इस तरह की अनिश्चितता नहीं देखी है. उन्होंने कहा कि हमें सजगता से चीजों को देखने, लचीले बने रहने और बेहतर समझ अपनाने की जरूरत है. हमें अभी जो दिख रहा है वह महज चक्रीय होने से अधिक स्ट्रक्टरल  कारणों से हैं। ऐसे में भविष्य अनिश्चित हो जाता है।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button