JamshedpurJharkhandNEWS

Tata Motors : कमेटी मीटिंग में ग्रेड पर लगी मुहर, अब केवल पर्दा उठने का इंतजार

Jamshedpur : टाटा मोटर्स के प्रस्तावित ग्रेड समझौते की तस्वीर ने बुधवार को मुकम्मल आकार ले लिया, जब यूनियन की कमेटी मीटिंग में इसे अमली जामा पहना दिया गया. अब इस समझौते पर से केवल पर्दा उठना बाकी है. यूनियन की कोशिश है कि एकाध दिन में इस समझौते पर हस्ताक्षर कर इसे सार्वजनिक कर दिया जाये. यह बात अलग है कि सार्वजनिक होने के पहले ही ग्रेड में बढ़ोतरी से लेकर बाई सिक्स कर्मियों के होने वाले स्थायीकरण चर्चा में है. यूनियन की कोशिश है कि कोरोना के बाद के इस कठिन माहौल में भी एक बेहतर ग्रेड हो, ताकि कर्मियों का भरोसा यूनियन पर बना रहे. सबसे ज्यादा इंतजार बाई सिक्स कर्मियों को है, जिन्हें लगता है कि यह ग्रेड इस बढ़ती महंगाई में उनके जीने का ऑक्सीजन बन सकता है. ग्रेड को लेकर बुधवार को टाटा मोटर्स वर्कर्स यूनियन में हुई कमेटी मीटिंग में ग्रेड पर चर्चा हुई. इसके बाद दोपहर 3 बजे से शाम 5 बजे तक वेज सेटलमेंट को ले कर टेल्को जेनरल आफिस में  यूनियन और मैनेजमैंट के बीच वार्ता हुई, जिसमें मैनेजमेंट की ओर से प्लांट हेड विशाल बादशाह, आईआर हेड दीपक कुमार और यूनियन की ओर से अध्यक्ष गुरमीत सिंह तोते और महामंत्री आर के सिंह शामिल हुए.

ट्रेड यूनियन का एक ही फार्मूला है मजदूरों की एकता, मजदूरों का विकास प्रवीण सिंह

सलाहकार प्रवीण सिंह ने कहा कि टाटा मोटर्स वर्कर्स यूनियन समय पर अपने दायित्वों का निर्वाह करने के लिए शहर में एक बेंचमार्क स्थापित कर चुकी है. शहर की दूसरी यूनियनें जहां अपने ग्रेड को लंबित रखने के लिए सुर्खियों में रहती है,  वहीं टाटा मोटर्स वर्कर्स यूनियन ने अपने ग्रेड और काम को समय पर कर एक अलग पहचान बना चुकी है. वेतन समझौता के लिए भी यूनियन अपनी ओर से समय से पूर्व तैयारी कर रही है और लगातार प्रयासरत है. निश्चित तौर पर वेतन समझौते में कई चीजें ऐसी होती हैं जो सामने दिखाई नहीं देती, पर उसका असर मजदूरों के भविष्य पर पड़ता है. पिछले दिनों यूनियन ने जो समझौता किया है, उस सेवा निधि का असर नजर आने लगा है.हाल ही में एक बाई सिक्स कर्मी की सड़क दुर्घटना में हुई मौत के बाद इसका लाभ परिजनों को मिला. अगर यह निधि नहीं होती तो उसका पूरा परिवार सड़क पर होता. लीडर को हमेशा दूरगामी और आगे की सोच रखनी चाहिए. मुझे आशा है कि यूनियन के नेतृत्व कर्ता वेतन समझौता में मजदूरों के जीवन उत्थान के लिए हर पहलू का ध्यान रखेंगे और उन्हें बेहतर आर्थिक शक्ति देने में सफल होंगे. आप सब अपनी एकता बनाए रखें. ट्रेड यूनियन का एक ही फार्मूला है- मजदूरों की एकता, मजदूरों का विकास.

रोजगार सृजन, बेहतर स्वास्थ और जीवनशैली होगा ग्रेड के केंद्र में  – आरके सिंह

महामंत्री आरके सिंह ने कहा कि आज की बैठक मुख्य तौर पर वेतन समझौता को लेकर है. सारे कमेटी मेंबर्स वेतन समझौता को लेकर अपे विचार जरूर दें. यूनियन पर सभी ने विश्वास जताया.  उन्होंने कहा कि वार्ता दो पक्षीय होता है. जब तक दोनों पक्ष सारे बिंदुओं पर सहमत नहीं हो जाते, तब तक समझौता नहीं हो सकता.  यूनियन के प्रयासों को मजदूर देख रहे हैं. महामंत्री ने कहा कि आप सबने यूनियन पर विश्वास बनाए रखा है. हम पूरा प्रयास कर रहे हैं कि उस विश्वास को कायम रखा जाए. हम “सर्वजन सुखाय सर्वजन हिताय”  के फार्मूले के आधार पर इस वेतन समझौता को संपन्न करना चाहते हैं. हमारी कोशिश है कि सभी को वेतन समझौते से लाभ एवं संतुष्टि मिल सके. जहां हम लोग वेतन बढ़ोतरी की बात कर रहे हैं वही आने वाले समय में रोजगार सृजन, बेहतर स्वास्थ्य और सुरक्षित जीवन शैली इस वेतन समझौता का मूल भाव होगा. अध्यक्ष गुरमीत सिंह तोते ने कहा कि टाटा मोटर्स वर्कर्स यूनियन जमशेदपुर ही नहीं, पूरे ट्रेड यूनियन में अपना आदर्श स्थापित कर चुकी है. इस वेतन समझौते में भी जिस तरह का विचार, सुझाव और विश्वास आप सबों के माध्यम से मजदूरों का मिल रहा है,  निश्चित तौर पर बेहतर वेतन समझौता होगा.

इसे भी पढ़ें – Jharkhand Panchayat Election- 2022 : प सिंहभूम में उपायुक्त ने जारी की दूसरे चरण के नामांकन की अधिसूचना 

Related Articles

Back to top button