4th LeadBreaking NewsJamshedpurJharkhandKhas-Khabar

Tata group के अध्‍यक्ष एन चंद्रशेखरन को म‍िला पद्मभूषण सम्‍मान, जान‍िए आख‍िर क्‍यों चुना गया इस शख्‍स को

Jamshedpur: टाटा समूह के अध्‍यक्ष एन चंद्रशेखरन को भारत के राष्‍ट्रपत‍ि रामनाथ कोव‍िंद के हाथों सोमवार को देश का सर्वोच्‍च पद्मभूषण सम्‍मान म‍िला. चंद्रशेखरन को यह सम्‍मान राष्‍ट्रपत‍ि भवन में आयोजि‍त कार्यक्रम में राष्‍ट्रपति ने अपने हाथों से प्रदान कि‍या. टाटा समूह ने अपने ट्वीटर हैंडल पर इस खास खबर को साझा क‍िया है. ल‍िखा है- हमारे अध्यक्ष एन. चंद्रशेखरन ने आज नई दिल्ली में राष्ट्रपति भवन में भारत के माननीय राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद से व्यापार और उद्योग के क्षेत्र में पद्मभूषण प्राप्त किया.
गौरतलब हो क‍ि लंबी दौड़ के शौकीन एन. चंद्रशेखरन कई मैराथन में हिस्सा ले चुके हैं. वे फोटोग्राफी का शौक भी रखते हैं. हालांक‍ि, उनका सबसे बड़ा परिचय है कि वह देश की दिग्गज कंपनी टाटा संस बोर्ड के एग्जीक्यूटिव चेयरमैन भी हैं. टाटा ग्रुप के साथ उनका नाता पिछले तीन दशक से है. साइरस मिस्त्री के बाद उन्हें टाटा संस का चेयरमैन बनाया गया. वह तमिलनाडु के इंजीनियरिंग कॉलेज से कंप्यूटर ऐप्लिकेशन में मास्टर्स की डिग्री लेने के बाद टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज में शामिल हुए.
ये कही थी दि‍ल को छू लेने वाली बात
एकबार अपने वक्‍तव्‍य में उन्‍होंने कहा था- तकनीक की बात करें तो हम हर जगह डिजिटल शब्द की चर्चा सुनते हैं. कुछ लोग इसे चौथी औद्योगिक क्रांति भी कहते हैं, पर यह उससे बेहद खास है. आमतौर पर देखें तो जब भी कोई तकनीकी सफलता मिली तो अर्थव्यवस्था में खास विकास दिखा है. इसकी खास वजह है. इससे कई चीजें आसान या संभव हो जाती हैं. इससे हम नई दुनिया की कल्पना कर पाते हैं. भाप का इंजन आया तो यही हुआ. बिजली बनी तब भी. जनसंख्या बढ़ोतरी की तुलना में दुनिया की इकॉनमी जीडीपी के नजरिये से 10-12 गुना बढ़ गई, लेकिन पिछले 30-40 सालों में कंप्यूटर और इंटरनेट आया तो आर्थिक विकास 37 गुना हो गया. अगर पीछे मुड़कर देखें तो 1950-60 में हम कहां थे? लेकिन डिजिटल के साथ बहुत-से रास्ते खुल गए.

संस्‍थापक द‍िवस में आए थे टाटा

एन चंद्रशेखरन इसी महीने दो मार्च को संस्‍थापक द‍िवस समारोह में भाग लेने टाटा आए थे. उन्‍होंने कहा था क‍ि वे जमशेदपुर सुव‍िधाओं के मामले में दुन‍िया का नंबर वन शहर बनाने की मंशा रखते हैं. उन्‍होंने शहर को कई खास सौगातें भी दी थी.

 

Catalyst IAS
ram janam hospital
The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali

Related Articles

Back to top button