Business

टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज  : सालाना एक करोड़ से ज्यादा वेतन पाने वाले कर्मचारियों  की संख्या 100 के पार

विज्ञापन

NewDelhi : टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) में  करोड़पति  कर्मचारियों  की संख्या 100 के पार चली गयी है.  खबर है कि 103 कर्मचारियों  का सालाना वेतन एक करोड़ रुपये से अधिक है.  इकनॉमिक टाइम्स के अनुसार  इसमें से एक चौथाई कर्मचारियों ने अपने करियर की शुरुआत देश की सबसे बड़ी आईटी कंपनी में की थी. वित्त वर्ष 2017 में टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज में 91 करोड़पति थे, जोकि वित्त वर्ष 2019 में बढ़कर 103 हो गये.  इस आंकड़े में सीईओ राजेश गोपीनाथन और सीओओ एनजी सुब्रमण्यम शामिल नहीं हैं.

इसे भी पढ़ेंः   अरविंद सुब्रमण्यम का दावा, 2011-12 से 2016-17 के बीच में जीडीपी सात फीसदी नहीं,  4.5 फीसदी की दर से बढ़ी

देबाशीष घोष को 4.7 करोड़ रुपये सालाना मिलते हैं

बता दें कि भारत से बाहर के कर्मचारियों को इसमें  शामिल नहीं किया गया है. आईटी सेक्टर की एक अन्य दिग्गज कंपनी इन्फोसिस में 60 से अधिक कर्मचारी 1.02 करोड़ से अधिक कमा रहे हैं.  इन्फोसिस की तरह TCS के कॉम्पेंसेशन में स्टॉक कंपोनेंट शामिल नहीं है.  TCS लाइफ साइंसेज, हेल्थकेयर और पब्लिक सर्विसेज बिजनस के हेड देबाशीष घोष को 4.7 करोड़ रुपये सालाना मिलते हैं.

बिजनस और टेक्नॉलजी सर्विसेज हेड कृष्णन रामानुजम की आमदनी 4.1 करोड़ वार्षिक है. कंपनी के बैंकिंग, फाइनैंसल सर्विसेज और इंश्योरेंस बिजनेस के हेड के कृथिवासन को 4.3 करोड़ रुपये सैलरी मिलती है. TCS इसे एनुअल रिपोर्ट में पब्लिश नहीं करती है। कंपनी ने इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.

दिलचस्प है कि कंपनी में सबसे उम्रदराज कर्मचारी जिन्हें एक करोड़ से ज्यादा सैलरी मिलती है.  72 वर्षीय बरिंद्रा सन्याल हैं जो फाइनैंस के वॉइस प्रेजिडेंट हैं.  विश्लेषक बताते हैं कि TCS की सफलता की एक वजह सीनियर लीडरशिप में स्थिरता है.  मुंबई स्थित एक ब्रोकरेज के एनालिस्ट ने कहा,  वरिष्ठ अधिकारियों को जोड़े रखने की दर भी TCS में बहुत अच्छी है.  उन्होंने करियर ग्रोथ के लिए ऐसा रास्ता बनाया है कि लोग कंपनी को छोड़ने की जरूरत महसूस नहीं करते हैं.

इसे भी पढ़ेंः  जीएसटी काउंसिल की बैठक 20 जून को संभव, 28 प्रतिशत स्लैब से कई आइटम्स हटाये जाने के कयास

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: