JharkhandPalamu

टास्क फोर्स की कार्रवाई : अवैध क्रशर ध्‍वस्‍त, दो सौ सीएफटी पत्थर जब्त

विज्ञापन

Palamu  : पलामू के उपायुक्त अमीत कुमार के निर्देश मंगलवार को नक्सल प्रभावित मनातू के नावा चुनका में अवैध रूप से संचालित किए जा रहे एक स्टोन क्रशर को ध्वस्त किया गया है. टास्क फोर्स ने स्थल से अवैध रूप से जमा किए गए करीब दो हजार सीएफटी पत्थर भी जब्त किया है.

इसे भी पढ़ेंःअशोक नगर में जब खुल रहे थे सरकारी कार्यालय और राष्ट्रीय बैंक, तब क्यों सोया रहा विभाग

खनन विभाग से स्‍टॉक की अनुज्ञप्ति नहीं थी

जानकारी के अनुसार टास्क फोर्स को इस क्षेत्र में अवैध रूप से क्रशर संचालित किए जाने की सूचना मिली थी. इसी के आलोक में जब टीम मौके पर पहुंची तो वहां कोई नहीं था, लेकिन मौके से बरामद केरोसिन व बैट्री से क्रशर के संचालन किए जाने की प्रमाण मिले. इस प्लांट पर खनन एवं भूतत्व विभाग ने स्टाक की अनुज्ञप्ति भी प्रदान नहीं की थी. जांच के क्रम में स्थल पर कोई भी व्यक्ति अपना दावा करने नहीं पहुंचा. इसे लेकर टास्क फोर्स ने क्रशर को पूरी तरह अवैध करार देते हुए ध्वस्त करने का निर्णय लिया.

इसे भी पढ़ें : कागजों पर संचालित फर्जी चाइल्ड केयर होम कर रहे सरकार को गुमराह, होगी कार्रवाई : आयोग

वन भूमि से पत्थर लदा ट्रैक्टर जब्त

छापामारी से लौटने के क्रम में मनातू प्रखंड क्षेत्र में ही उत्क्रमित मध्य विद्यालय धुंधुआ के पीछे पहाड़ी के निकट वन भूमि में अवैध रूप से पत्थर के स्टाक सहित करीब बीस सीएफटी अवैध पत्थर लोड एक ट्रैक्टर को जब्त किया गया. जिला खनन पदाधिकारी आनंद कुमार ने अज्ञात के विरूद्ध मनातू थाना में झारखंड लघु खनिज समानुदान नियमावली सहित अन्य सुसंगत धाराओं में मामला दर्ज किया है. साथ ही वन क्षेत्र से अवैध रूप से पत्थर तोड़े जाने को लेकर मनातू के वन क्षेत्र पदाधिकारी ने वन अधिनियम के तहत मामला दर्ज कराया है.

टास्क फोर्स में मनातू के सीओ रवि प्रकाश, रेंजर प्रेमानंद झा, थाना प्रभारी संजय कुमार नायक सहित कई अधिकारी शामिल थे. जिला खनन पदाधिकारी ने इस अभियान के निरंतर जारी रखने की बात कही है.

 इसे भी पढ़ें : JBVNL में 15 करोड़ का घपला और घपलेबाज को संरक्षण देने वाले आईएएस राहुल पुरवार पर सरकार की चुप्पी

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

 

Telegram
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close