न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

10 जनवरी को एक लाख युवाओं को नियुक्ति पत्र बांटने का है लक्ष्य, अब तक 81,383 का ही हो सका है चयन

103

Ranchi : खेलगांव स्थित हरिवंश टाना भगत इंडोर स्टेडियम में चल रहे रोजगार मेले के दूसरे दिन 1466 युवक-युवतियां इंटरव्यू में शामिल हुए. इसमें उच्चतम शिक्षा के 516 और तकनीकी शिक्षा के 950 उम्मीदवारों ने इंटरव्यू दिया. इसमें लगभग 500 उम्मीदवारों का चयन किया गया. गौरतलब है कि खेलगांव में दो दिनों का रोजगार मेला लगाया गया था, जिसमें कुल 2966 युवक-युवतियां शामिल हुए. इसमें लगभग 1100 युवक-युवतियों का चयन विभिन्न कंपनियों के लिए किया गया है. सरकारी आंकड़ों के अनुसार अब तक कुल 81,383 युवक-युवतियों का चयन कर लिया गया है. मुख्यमंत्री रघुवर दास ने 10 जनवरी को स्किल समिट के दिन एक लाख युवाओं को नियुक्ति पत्र देने की घोषणा की है. इसके लिए ये रोजगार कैंप लगाये जा रहे हैं. इन कैंपों के बावजूद अब भी लगभग 19000 कैंडिडेट सरकार की घोषणा के अनुसार कम पड़ रहे हैं. सिर्फ छह दिन ही शेष बचे हैं, ऐसे में सरकार कौन सा फॉर्मूला लगाकर छह दिन में 19000 कैंडिडेट का चयन करती है, यह देखना दिलचस्प होगा. रविवार को फेयर का अंतिम दिन है.

जॉब फेयर में 30 कंपनियां ले रहीं युवाओं का इंटरव्यू

झारखंड कौशल विकास मिशन सोसाइटी के तत्वावधान में आयोजित इस प्लेसमेंट ड्राइव कार्यक्रम में 30 से अधिक कंपनियां हिस्सा ले रही हैं. कंपनियों के अलग-अलग स्टॉल लगाकर कैंडिडेट से इंटरव्यू लिया जा रहा है. युवाओं को इंटरव्यू के पश्चात रोजगार दिया जायेगा. 10 जनवरी को होनेवाले स्किल समिट में मुख्यमंत्री रघुवर दास चयनित युवाओं को अपने हाथों से ऑफर लेटर सौंपेंगे. इस मौके पर केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान भी मौजूद होंगे. मेला को लेकर राज्य के युवाओं में खास उत्साह देखा जा रहा है. बड़ी संख्या में युवक-युवतियां खेलगांव पहुंच रहे हैं.

पाई इन्फोकॉम ने दो दिनों में 214 युवक-युवतियों का किया चयन

रोजगार मेले के दूसरे दिन शनिवार को पाई इन्फोकॉम ने 83 युवक-युवतियों का चयन किया. वहीं, प्रताप टेक्नो ने 54, माइक्रोटर्नर ने 50 और जयबालाजी ने 50 युवक-युवतियों का चयन किया. दो दिनों में पाई इन्फोकॉम ने 214 युवक-युवतियों का चयन किया.

इसे भी पढ़ें- रोजगार मेला में आये युवा दिखे निराश, कहा- 10-12 हजार रुपये में दिल्ली, बेंगलुरु, हैदराबाद में कैसे…

इसे भी पढ़ें- कहीं मसानजोर न बन जाये मंडल डैम!

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: