न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

तनवीर अख्तर और श्वेताभ कुमार बनेंगे मुख्य अभियंता

पेयजल और स्वच्छता विभाग की तरफ से मुख्यमंत्री की सहमति के लिए भेजी गयी संचिका

12

Ranchi: पेयजल एवं स्वच्छता विभाग की तरफ से जल्द ही तनवीर अख्तर और श्वेताभ कुमार को मुख्य अभियंता के पद पर प्रमोशन दिया जायेगा. इस संबंध में सारी औपचारिकताएं पूरी कर ली गयी हैं. विभाग में मुख्य अभियंता स्तर के पांच पद हैं. इनमें से दो ही पद पर नियमित मुख्य अभियंता काबिज हैं. शेष तीन पद खाली हैं. तनवीर अख्तर फिलहाल विभाग के अभियंता प्रमुख के प्रभार में हैं. इनके अलावा इन्हें विभाग के ही सेंट्रल डिजाइनिंग ऑर्गनाइजेशन (सीडीओ) के मुख्य अभियंता का प्रभार भी मिला हुआ है. इनकी सेवानिवृति 31 जनवरी 2019 को होगी. सरकार की तरफ से अभियंता प्रमुख के पद के लिए नियमित मुख्य अभियंता का होना जरूरी है. विभाग में तकनीकी सेक्शन का प्रमुख होने की वजह से यह पद काफी महत्वपूर्ण है और नियमित तीन वर्ष का अनुभव भी अभियंता प्रमुख पद के लिए होना जरूरी है. विभागीय मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी ने भी इस संबंध में अपनी सहमति दे दी है. उनकी सहमति के बाद ही दो मुख्य अभियंता के प्रमोशन की फाइल मुख्यमंत्री के पास भेजी गयी है. मुख्यमंत्री की सहमति मिलने के बाद अधिसूचना जारी कर दी जायेगी. विभाग के दूसरे मुख्य अभियंता प्रभारी श्वेताभ कुमार फिलहाल प्रोग्राम मैनेजमेंट यूनिट (पीएमयू) में बैठते हैं. उनके द्वारा ग्रामीण जलापूर्ति कार्यक्रम, विश्व बैंक संपोषित योजनाओं का कार्यान्वयन किया जाता है.

इसे भी पढ़ें – न्यूज विंग खास : झारखंड कैडर के 50-59 साल पार हैं 67 आईएएस, 27 साल की किरण सत्यार्थी हैं सबसे यंग IAS

दो थे नियमित मुख्य अभियंता

विभाग में दो ही मुख्य अभियंता नियमित थे. इनमें से क्षेत्रीय मुख्य अभियंता हीरा लाल प्रसाद और एक अन्य प्रमुख हैं. श्री प्रसाद कुछ दिनों तक अभियंता प्रमुख के पद पर थे भी. पर सरकार ने उन्हें इस पद से हटा कर रमेश कुमार को इनकी जगह पदस्थापित कर दिया था. विभाग में पांच पद मुख्य अभियंता का पद है. इसमें एक अभियंता प्रमुख, दो क्षेत्रीय मुख्य अभियंता, एक मुख्य अभियंता (सीडीओ) और एक मुख्य अभियंता मुख्यालय का पद शामिल है.

श्वेताभ कुमार

इसे भी पढ़ें – मैला (पॉट्टी) फेंककर ज्‍वेलरी शॉप में लाखों की लूट, सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई वारदात

न्यूजविंग ने छापी थी खबर

न्यूजविंग की तरफ से इस संबंध में खबर प्रकाशित की गयी थी. समाचार में कहा गया था कि विभाग के एक आरोपी अभियंता उमेश गुप्ता भी मुख्य अभियंता पद के प्रमुख दावेदारों में से हैं. विभागीय मंत्री की तरफ से सिर्फ दो नाम पर ही सहमति दी है. इन्होंने अपना नाम जुड़वाने के लिए कई जगहों से पुख्ता दावेदारी भी करवायी थी. इन पर राजधानी रांची के सिवरेज-ड्रेनेज योजना के परामर्शी के चयन में मैनहर्ट सिंगापुर प्राइवेट लिमिटेड को अनपेक्षित मदद करने का आरोप लगा हुआ है. इसकी पुष्टि भी निगरानी की जांच में हुई है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: