JharkhandKhas-KhabarRanchi

नीमडीह अंचल कार्यालय के सहायक 5 हजार घूस लेते धराए

Chandil/ jamshedpur : नीमडीह के अंचल कार्यालय के सहायक रंजन कुमार दुबे को एसीबी जमशेदपुर की टीम ने बुधवार को 5 हज़ार घूस लेते हुए रंगे हाथ पकड़ लिया. उसके साथ बिचौलिया अरुण कुमार महतो को भी गिरफ्तार किया गया है. शिकायतकर्ता पुरियारा गांव निवासी अशोक गोप से जमीन के दाखिल खारिज के लिए पांच हज़ार रुपये की मांग की गई थी. अशोक गोप ने अपने ससुर की जमीन के दाखिल खारिज के लिए आवेदन दिया था, लेकिन सहायक काम के बदले अपने बिचैलिया के मार्फत लगातार पैसों की मांग कर रहे थे. रुपये देने में असमर्थ अशोक ने इसकी जानकारी एसीबी जमशेदपुर को दी, इसके बाद मामले की सत्यता की जांच कर टीम का गठन किया गया.

बिचौलिया अरुण कुमार महतो

इसे भी पढ़ें- सरकार ने कुछ खास वर्गों को बिना आधार कार्ड के जमीन रजिस्ट्री कराने की दी छूट

पांच दिन में 5 लोग बने एसीबी के शिकार

टीम ने सुनियोजित तरीके से कार्रवाई करते हुए जैसे ही अशोक गोप से दोनों ने रुपये लिए टीम ने उन्हें धार दबोचा. अचानक हुई कार्रवाई से दोनों हतप्रभ रह गए. एसीबी जमशेदपुर की टीम ने सरायकेला में 25 हज़ार रुपये घूस लेते तीन लोगों को रंगे हाथ पकड़ लिया. इससे पहले पिछले शुक्रवार 20 जुलाई को राजनगर प्रखंड कार्यालय में पदस्थापित सहायक अभियंता सुनीलचन्द्र चौधरी, पंचायत सेवक रतन सिंह मुंडा और लिपिक शंकर समल 25 हजार रुपये घूस लेते हुए पकड़े गए थे.

उस मामले में मुखिया सुकुरमणि उरांव से 24 विकास योजनाओं के मापी पुस्त निर्गत, योजनाओं के विपत्र तैयार करने तथा शेष राशि का संबंधित कार्यकारी एजेंसी को भुगतान करने के लिये 90 हजार रुपये की मांग सहायक अभियंता, पंचायत सेवक और लिपिक ने की थी. राजनगर में एसीबी की टीम ने सहायक अभियंता सुनिलचन्द्र चौधरी को 7 हजार, पंचायत सेवक रतन सिंह मुंडा को 12 हज़ार एवं लिपिक शिव शंकर शामल को 6 हज़ार रुपए के साथ गिरफ्तार किया. हफ्ते भर में पांच लोगों के पकड़े जाने से सरायकेला खरसावां समेत पूरे कोल्हान में हड़कंप है।

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

 

Related Articles

Back to top button