Lead NewsNationalNEWS

बरतें सावधानी: ओमिक्रॉन वैरिएंट से फरवरी में कोरोना की तीसरी लहर की आशंका

New Delhi: भारत में कोरोना के नये ओमिक्रॉन वैरिएंट का खतरा गहराते जा रहा है. देश में विभिन्न आधा दर्जन राज्यों में दो दर्जन के करीब ओमिक्रॉन के पीड़ित मिल चुके हैं. अब विशेषज्ञ कह रहे हैं कि फरवरी में इस वैरिएंट की वजह से तीसरी लहर आ सकती है. हालांकि यह पिछली यानी दूसरी लहर से कमजोर रहने का भी अनुमान है. इस आशय के दावे आईआईटी के डाटा वैज्ञानिक दल ने किए हैं. उनके अनुसार तीसरी लहर में 1 से 1.5 लाख तक अधिकतम मामले प्रतिदिन आ सकते हैं.

इसे भी पढ़ेंःJharkhand News: पथ निर्माण विभाग के 16 इंजीनियरों का स्थानांतरण व पदस्थापन

advt

नए वैरिएंट ने नई तरह की आशंकाएं पैदा कर रहीं हैं. राहत वाली बात यह है कि अभी तक ओमिक्रॉन में डेल्टा जैसी घातकता नहीं है. इस वैरिएंट के सबसे अधिक पीड़ित दक्षिण अफ्रीका में मिल रहे हैं, मगर लेकिन अस्पताल जाने वालों की संख्या कम है. विशेषज्ञ का कहना है कि इसके बावजूद इसे हल्के में नहीं लिया जा सकता है.

 

गोवा में पांच संदिग्ध केस मिले

गोवा में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के 5 संदिग्ध केस मिले हैं. ये सभी एक व्यापारी जहाज से गोवा पहुंचे हैं. सभी को क्वारंटाइन कर दिया गया है. इनके सैंपल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए पुणे भेजे गए हैं. इधर, देश में अब तक नए वैरिएंट के 24 केस सामने आ चुके हैं. ओमिक्रॉन से संक्रमित लोग कर्नाटक, महाराष्ट्र, राजस्थान, दिल्ली और गुजरात में पाए गए हैं.

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: