न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
Browsing Tag

लोकतंत्र

हम मूर्ख हैं! हमने 539 में से 233 अपराधियों, गुंडों, रेपिस्टों को चुना, अब उनसे मजदूरों के लिए…

Soumitra Royभारत का दुर्भाग्य है कि यहां आपराधिक चरित्र के दागदार लोग उस सिस्टम को चला रहे हैं. जिसे संविधान में जनता के लिए, जनता के द्वारा और जनता का लोकतंत्र कहा गया है.अब्राहम लिंकन की लोकतंत्र की परिभाषा का आज यह हाल है कि संसद…

वंशवाद व कारपोरेट वाद के चंगुल में फंसी भारतीय राजनीति नैतिक स्तरों पर पतित हो चुकी है

Hemant K Jhaभारत की राजनीति में दो प्रवृत्तियां बेहद खतरनाक रूख अख्तियार कर चुकी हैं. पहला तो वंशवाद, जो आम राजनीतिक कार्यकर्ताओं के लिए आगे बढ़ने के अवसर सीमित करता जा रहा है और दूसरा, जो पहले से भी अधिक खतरनाक है, राजनीति में अच्छे,…

अजित डोभाल का दिल्ली पुलिस पर बयान कहीं अमित शाह की विफलता पर इशारा तो नहीं!

Faisal Anuragदिल्ली में इंसानों का बहा खून राजनीतिक विवाद का बड़ा कारण बना हुआ है. राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने पुलिस की नाकामयाबी को लोकतंत्र के लिए बड़ा खतरा बताया है. यह बयान सामान्य नहीं है, क्योंकि दिल्ली पुलिस गृहमंत्रालय के अधीन…

जजों की ओर से लोकतंत्र और संविधान के मूल्यों की निरंतर चर्चा नई उम्मीद जगाने वाली है

Faisal Anuragजस्टिस चंद्रचूड़ के बाद अब जस्टिस दीपक गुप्ता ने लोकतंत्र, संविधान और लोगों के अधिकारों को ले कर वक्तव्य दिया है. सुप्रीम कोर्ट के जजों की इन टिप्पणियों को ले कर खासी चर्चा है. आमतौर पर इस तरह की बातों को धारा के विपरीत…

असहमति का अधिकार लोकतंत्र के लिए आवश्यक, इसे राष्ट्रविरोधी कहना गलत: जस्टिस दीपक गुप्ता

New Delhi: सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश दीपक गुप्ता ने कहा कि असहमति का अधिकार लोकतंत्र के लिए आवश्यक है. सोमवार को उन्होंने कहा कि कार्यकारिणी, न्यायपालिका, नौकरशाही तथा सशस्त्र बलों की आलोचना को राष्ट्र-विरोधी नहीं कहा जा सकता है.इसे भी…

शाहीनबाग के लिए सुप्रीम कोर्ट से वार्ताकार नियुक्त होना मोदी सरकार की बड़ी विफलता

Faisal Anuragकेंद्र सरकार शाहीनबाग के आंदोलनकारियों से न तो कोइ बात कर रही है और न ही देशभर में चल रहे प्रतिरोधों को लोकतांत्रिक तरीके से हल करने की पहल. सुप्रीम कोर्ट ने वार्ताकारों की नियुक्ति कर ये सवाल खड़ा किया है. लोकतंत्र में…

#Supreme_Court के जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ ने कहा, असहमति को देश विरोधी ठहराना लोकतंत्र की आत्मा पर…

Ahmedabad : संशोधित नागरिकता कानून (CAA) और प्रस्तावित नैशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजंस (NRC) को लेकर देश के कई हिस्सों में हो रहे बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन के बीच  सुप्रीम कोर्ट के जज जस्टिस डी वाईचंद्रचूड़ ने असहमति को लोकतंत्र का सेफ्टी…

क्या नीतीश क्या बाबूलाल, दोनों ही जनादेश की धज्जियां उड़ाकर दलबदल को सही साबित करने में लगे हैं

Faisal Anuragन तो नीतीश कुमार मिट्टी में ही दफन हुए और न ही बाबूलाल मरांडी कुतुबमीनार से कूदे. दोनों ने ही भारतीय जनता पार्टी से गलबहियां कर लिया है. अपने शुरुआती दिनों में इन दोनों ही ने राजनीति में नैतिकता की सबसे ज्यादा दुहाई दी है.…