न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
Browsing Tag

अंधेरा

लातेहार : बेलवाही में दो #Transformer तीन माह से खराब, 500 की अबादी अंधेरे में

Latehar : चंदवा के बेलवाही मे दो बिजली ट्रांसफॉर्मर तीन माह से खराब हैं. इससे गांव अंधेरे में डुबा हुआ है. विद्युत विभाग की उदासीनता के कारण ट्रांसफॉर्मर बदलने के लिए कोई प्रयास नहीं हो रहा है.80 परिवारों की करीब 500 की आबादी ढिबरी युग…

कचरे का उठाव ठप, कर्मचारियों को नहीं मिला है वेतन, एनएच 58 पर अंधेरा, निगम के नये आयुक्त विवाद सुलझा…

Abinash MishraJamshedpur :  जमशेदपुर के आदित्यपुर में इन दिनों कचरे का उठाव ठप हो गया है. तीन दिनों से शहर की किसी भी गली से कचरा नहीं उठाया गया है.  वजह यह कि कचरा उठाने वाली गाड़ियों को पेट्रोल पंप ने पेट्रोल देना बंद कर दिया है.…

इस गांव के लोग मिस्त्री को पैसा दे बनवाते हैं ट्रांसफॉर्मर, दूसरे दिन गुल हो जाती है बिजली

Dumka : दुमका सदर प्रखंड की सरवा पंचायत के धतिकबोना गांव में बिजली मिस्त्री को पैसा देने के बाद भी 20 दिन से लोग अंधेरे में रहने को मजबूर हैं.ग्रामीणों ने बताया कि दो माह पहले नया ट्रांसफार्मर लगाया गया. तीन दिन तक ठीक काम करने के बाद…

आंधी-पानी में गुल हो गयी बिजली, राजधानी सहित कई जिलों में छाया अंधेरा, 352 मेगावाट बिजली सरेंडर

Ranchi: बिजली वितरण निगम का सिस्टम दुरुस्त नहीं होने के कारण बिजली आपूर्ति हिचकोले मार रही है. शनिवार की शाम से शुरू हुई आंधी-पानी के कारण पूरे प्रदेश की बिजली व्यवस्था चरमरा गयी. पिछले चार साल से 24 घंटे बिजली देने का दावा पूरी तरह से फेल…

पटरी से उतरी राज्य की बिजली व्यवस्था, सभी जिलों में जारी है बिजली की कटौती

राज्य का अपना उत्पादन सिर्फ 208 मेगावाट निजी और सेंट्रल सेक्टर से ली गई 862 मेगावाट बिजली फिर भी 107 मेगावाट बिजली की कमीRanchi: पिछले दो दिनों से प्रदेश की बिजली व्यवस्था पटरी से उतर गई है. शुक्रवार को टीवीएनएल की दोनों…

रांची : सदर अस्पताल के सुपर स्पेशियलिटी भवन में दो घंटे से ज्यादा देर तक बिजली गुल

Ranchi : रांची के सदर अस्पताल का सुपर स्पेशियलिटी विंग कही जानेवाली बिल्डिंग शनिवार को दो घंटे से भी ज्यादा देर तक अंधेरे में डूबी रही. शनिवार की शाम करीब साढ़े पांच बजे हॉस्पिटल में बिजली कट जाने से हॉस्पिटल के आधे से ज्यादा भाग में अंधेरा…

बिजली खरीद में फूंक दिया 20 हजार करोड़, अब कोयले की कमी, झारखंड के सात जिलों में ब्लैकआउट के हालात

Ravi BhartiRanchi : राज्य में पावर हब बनाने का सपना हकीकत से कोसों दूर नजर आ रहा है. राज्य गठन के बाद से अब तक निजी और सेंट्रल सेक्टर से बिजली खरीद में 20 हजार करोड़ रुपये फूंके जा चुके हैं. इतने में 3500 मेगावाट का पावर प्लांट लग जाता.…