न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पारा शिक्षकों को रोकने की काम न आई रणनीति, हर स्कूल में पारा शिक्षकों को उपस्थित रहने का दिया गया था निर्देश

1,337

Pravin Kumar

Ranchi: सरकार द्वारा पारा शिक्षकों को रोकने की रणनीति आखिरकार काम न आई. सरकार के आदेश को दरकिनार करते हुए हजारों की संख्या में पारा शिक्षक आखिरकार रांची पहुंचे. यह भी दिगर वाली बात है कि चाक-चौबंद सुरक्षा के बावजूद पारा शिक्षक आयोजन स्थल में बने मंच के अंदर बैठे हुए थे. वे सीएम के भाषण का इंतजार कर रहे थे. जैसे ही मुख्यमंत्री ने अपना भाषण शुरू किया, पारा शिक्षकों ने मुख्यमंत्री के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी. काले झंडे भी लहराये. इससे भी बात नहीं बनी तो काले बैलून भी आकाश में उड़ाये.

इसे भी पढ़ेंःगोलियों की गूंज और धमाकों के बीच मना राज्य का स्थापना दिवस, नौ कैबिनेट मंत्रियों ने नहीं की शिरकत

पुलिस भी बनी रही मूकदर्शक

स्थापना दिवस की तैयारी लगभग एक महीने से चल रही थी. सरकार को भी अंदेशा था कि पारा शिक्षक और रसोइया संघ स्थापना दिवस समारोह में हंगामा करेंगे. लेकिन सरकार की रणनीति पूरी तरह से फेल हो गई. मोरहाबादी मैदान की पूरी तरह से किलेबंदी की गई थी. इसके बावजूद भी पारा शिक्षक आयोजन स्थल के अंदर सैंकड़ों की संख्या में मौजूद थे. इस दौरान पारा शिक्षकों ने कुर्सियां भी तोड़ी. वहां मौजूद पुलिसकर्मी मूकदर्शक बने रहे. सभी को बैठाने की कोशिश में लगे रहे. वही प्रदर्शन कर रहे पारा शिक्षक उग्र हुए तो लाठीचार्ज कर पुलिस ने अपनी शौर्यगाथा पुलिस गाने लगी.

इसे भी पढ़ें: स्थापना दिवस अपडेटः पारा शिक्षकों के प्रदर्शन को रोकने के लिए मोरहाबादी में हवाई फायरिंग

राज्य का खुफिया तंत्र भी हुआ फेल

पारा शिक्षकों के मसले में राज्य का खुफिया तंत्र भी पूरी तरह से नकारा साबित हुआ. जब पारा शिक्षकों का हंगामा शुरू हुआ तो मंच के बगल में मौजूद डीजीपी सहित अन्य वरीय पुलिस अफसरों के होश उड़ गये. डीजीपी एक कोने में खड़े होकर वरीय पुलिस अफसरों से बाहर की सूचना लेने लगे. धमाकों की आवाज मंच तक पहुंचने लगी. इसे सुन डीजीपी हक्के-बक्के रह गये.

कार्यक्रम के बाद पुलिसकर्मियों के छूटे पसीने

कार्यक्रम के बाद भी पुलिस कर्मियों को काफी मशक्कत करनी पड़ी. सीएम सहित अन्य आला अफसरों को बाहर निकालने के लिए पुलिस कर्मियों को काफी मशक्कत करनी पड़ी. मोरहाबादी के चारों ओर जाम की स्थिति बन गई. पारा शिक्षक मोरहाबादी के चारों ओर सड़क जाम कर नारेबाजी करने लगे. कुछ पारा शिक्षक नेपाल हाउस की ओर कूच कर गये.

इसे भी पढ़ें: स्थापना दिवस पर पारा शिक्षकों का प्रदर्शन, सीएम को काला झंडा दिखाने की कोशिश-पुलिस का लाठीचार्ज

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: