JharkhandRanchi

गणतंत्र दिवस पर दिखेगी ‘लॉकडाउन की चुनौतियों के बीच शिक्षा…’ की झांकी

झारखंड शिक्षा परियोजना की तरफ से बनवायी जायेगी आकर्षक झांकी

Ranchi : कोरोना काल का सबसे अधिक प्रभाव शिक्षा पर पड़ा है.लॉकडाउन की वजह से शिक्षा लेने व देने की पूरी प्रक्रिया में बदलाव दिखा.शिक्षा को लेकर ही पिछले 10 माह में बनी चुनौती और बदलाव का दृश्य इस बार गणतंत्र दिवस पर देखने को मिलेगा.झारखंड शिक्षा परियोजना इस बार ‘लॉकडाउन की चुनौतियों के बीच शिक्षा के बढ़ते कदम’ विषय पर झांकी निकालेगा.
जिला शिक्षा पदाधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि शिक्षा के इस थीम पर काम किया जा रहा है.यह थीम अपने आप में अलग होगी, सबसे अधिक प्रभाव पढ़ने-पढ़ाने की दिशा में हुआ है.इस संबंध में विभाग द्वारा झांकी निकालने के लिए टेंडर निकाल दिया गया है.

इसे भी पढ़ें :गाबा में अजेय ऑस्ट्रेलिया को भारत ने तीन विकेट से हराया

इस झांकी को इस बार का सबसे आकर्षक झांकी के रूप में अभी से ही देखा जा रहा है.हालांकि कई झांकियां होगी जिसमें कोविड-19 का जिक्र जरूर किया गया होगा.जिसमें यह देखने को मिलेगा कि आखिर इस कोरोना वायरस ने हर चीज को कैसे प्रभावित किया. आम से लेकर खास के जीवन को यह प्रभावित किया.साथ ही कैसे लोग आगे बढ़ते रहें और चुनौतियों का सामना करते रहें.

Catalyst IAS
ram janam hospital

इसे भी पढ़ें :पड़ोसी देशों को कोरोना वैक्सीन की एक करोड़ डोज दान कर सकता है भारत

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

बच्चों व अभिभावकों के बदले अंदाज दिखेंगे

26 जनवरी को निकलने वाले थीम में लोगों को कोरोना संक्रमण बढ़ता दिखेगा. साथ ही किस तरह से स्कूल बंद होने लगे और बच्चों को घरों में ही रहना पड़ा.इसी झांकी में यह भी दिखेगा कि बच्चों के लिए धीरे-धीरे आॅनलाइन क्लास की व्यवस्था शुरू की गई.जिसमें बच्चे मोबाइल व कंप्यूटर के माध्यम से कैसे अपनी पढ़ाई जारी रख सकें.शिक्षा विभाग की ओर से लर्नेटिक्स से लेकर कई मोबाइल ऐप लांच किया गया.जिसके माध्यम से बच्चे अपनी पढ़ाई को जारी रख सकें.

इसी बीच बच्चों की परीक्षाएं भी शुरू हुई जिसे भी नए योजना बनाकर आॅनलाइन की गई.शिक्षकों की भूमिका बदली और कैसे शिक्षक बच्चों से दूर रहकर भी उनका भरोसा जीते.इन सारी चीजों को छोटी-छोटी कड़ी के रूप में एक साथ दिखाया जायेगा.साथ ही यह समझाने का प्रयास होगा कि इस तरह कोरोना ने परम्परागत रियल-वर्ल्ड प्लेटफॉर्म के स्थान पर वर्चुअल प्लेटफॉर्म से कार्य करने को विवश कर दिया.बड़ी संख्या में शिक्षकों और विद्यार्थियों ने कई सीमाओं के बावजूद ऑनलाइन शिक्षा के नये तरीके को अपनाने में उत्साह दिखाया.

मालूम हो कि गणतंत्र दिवस पर झांकी व पुलिस की मार्च पास्ट को ही इस बार प्रदर्शन किया जाएगा.इसके लिए जिला प्रशासन की ओर से कोविड गाइडलाईन का पालन किया जाएगा.

इसे भी पढ़ें :पड़ोसी देशों को कोरोना वैक्सीन की एक करोड़ डोज दान कर सकता है भारत

Related Articles

Back to top button