न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

स्विस बैंकों में जमा धन मोदी सरकार के 49 महीनों में काले से हो गया सफेद

210

New Delhi : भारतीयों का स्विस बैंकों में जमा धन चार साल में पहली बार बढ़कर पिछले साल सात हजार करोड़ रुपये के दायरे में पहुंचने के बाद से लगातार विपक्ष भाजपा पर हमलावर है. इसी को लेकर कांग्रेस ने कटाक्ष करते हुए शनिवार को कहा कि नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने से पहले जो धन ‘काला’ हुआ करता था वो 49 महीनों में ‘सफेद’ हो गया है. पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा कि मई, 2014 से पहले स्विस बैंकों में जमा धन ‘काला’ था. मोदी सरकार के 49 महीनों में यह ‘सफेद’ हो गया है.

इसे भी पढ़ें- घाटे में चल रही IDBI में 13 हजार करोड़ निवेश करेगी LIC

क्या यह ‘फेयर एंड लवली’ झूठ है : सुरजेवाला

सुरजेवाला ने अरुण जेटली और पीयूष गोयल के बयानों का हवाला देते हुए कहा कि दो वित्त मंत्री स्विस बैंक खाताधारकों का बचाव करते हुए कहते हैं कि यह ‘गैरकानूनी’ नहीं हैं. जबकि सीबीडीटी का कहना है कि सितंबर, 2019 से पहले स्विस बैंकों खातों के बारे में कोई सूचना उपलब्ध नहीं होगी. गौरतलब है कि केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली के एक बयान का हवाला देते हुए सुरजेवाला ने सवाल किया, ‘क्या यह ‘फेयर एंड लवली’ झूठ है?’ दरअसल, जेटली ने कहा है कि स्विस बैंकों में जमा सारे पैसे गैरकानूनी नहीं हैं.

इसे भी पढ़ें- जल संसाधन विभाग के 94 इंजीनियर्स पर हैं भ्रष्‍टाचार के आरोप, बिना दंडात्‍मक कार्रवाई के अब हो रहे हैं रिटायर

सरकार के अभियान के बावजूद बढ़ा कालाधन

इससे पहले तीन साल यहां के बैंकों में भारतीयों के जमा धन में लगातार गिरावट आई थी. अपनी बैंकिंग गोपनीयता के लिए पहचान बनाने वाले इस देश में भारतीयों के जमाधन में ऐसे समय दिखी बढ़ोतरी हैरान करने वाली है जबकि भारत सरकार विदेशों में कालाधन रखने वालों के खिलाफ अभियान चलाए हुए है. स्विस नेशनल बैंक (एसएनबी) के सालाना आंकड़ों के अनुसार स्विस बैंक खातों में जमा भारतीय धन 2016 में 45 प्रतिशत घटकर 67.6 करोड़ फ्रेंक ( लगभग 4500 करोड़ रुपये) रह गया. यह राशि 1987 से इस आंकड़े के प्रकाशन की शुरुआत के बाद से सबसे कम थी. एसएनबी के आंकड़ों के अनुसार भारतीयों द्वारा स्विस बैंक खातों में सीधे तौर पर रखा गया धन 2017 में लगभग 6891 करोड़ रुपये (99.9 करोड़ फ्रेंक) हो गया. वहीं प्रतिनिधियों या धन प्रबंधकों के जरिए रखा गया धन इस दौरान 112 करोड़ रुपये (1.62 करोड़ फ्रेंक) रहा. ताजा आंकड़ों के अनुसार स्विस बैंक खातों में जमा भारतीयों के धन में ग्राहक जमाओं के रूप में 3200 करोड़ रुपये , अन्य बैंको के जरिए 1050 करोड़ रुपये शामिल है. इन सभी मदों में भारतीयों के धन में आलोच्य साल में बढ़ोतरी हुई. स्विस बैंक खातों में रखे भारतीयों के धन में 2011 में इसमें 12%, 2013 में 43%, 2017 में इसमें 50.2% की वृद्धि हुई. इससे पहले 2004 में यह धन 56% बढ़ा था.

इसे भी पढ़ें- सदियों पुरानी परंपरा पत्थलगड़ी पर तनाव और टकराव क्यों?

बैंकों का मुनाफा 2017 में 25% बढ़ा

एसएनबी के ये आंकड़े ऐसे समय में जारी किए गए हैं जबकि कुछ महीने पहले ही भारत व स्विटजरलैंड के बीच सूचनाओं के आदान प्रदान की एक नयी व्यवस्था लागू की गई है. इस व्यवस्था का उद्देश्य काले धन की समस्या से निजात पाना है. इस बीच स्विटजरलैंड के बैंकों का मुनाफा 2017 में 25% बढ़कर 9.8 अरब फ्रेंक हो गया. हालांकि इस दौरान इन बैंकों के विदेशी ग्राहकों की जमाओं में गिरावट आई. इससे पहले 2016 में यह मुनाफा घटकर लगभग आधा 7.9 अरब फ्रेंक रह गया था.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं. 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: