Dhanbad

जाने-माने व्यवसायी नरेंद्र की संदेहास्पद मौत, पुलिसिया जांच पर उठ रहे सवाल

Dhanbad: सरायढेला थाना के जाने-माने व्यवसायी और बाला जी पेट्रोल पंप के मालिक महावीर सिंह के 45 वर्षीय पुत्र नरेंद्र सिंह उर्फ डब्बू की मंगलवार को संदेहास्पदा मौत हो गयी.

परिजनों के मुताबिक, मॉर्निंग वॉक के दौरान नरेंद्र अचानक गिर पड़े थे. जिसके बाद उन्हें सेंट्रल अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

इसे भी पढ़ेंःनौकरियों में स्थानीयता पर छलका यूपी-बिहार के छात्रों का दर्द, ‘जमा किया गया शुल्क भी लौटेगा या नहीं पता नहीं’

advt

वहीं सरायढेला थाना के एएसआइ भोला राय का कहना है मृतक के गले में फंदे के निशान हैं. शव का पोस्टमार्टम पीएमसीएच में कराया जा रहा है.

अब पोस्मार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पता चल पायेगा कि ये हादसा है या आत्महत्या. फिलहाल पुलिस हर पहलू पर मामले की जांच कर रही है.

नरेंद्र का अपने ही घर में था विवाद

सूत्रों की मानें तो नरेंद्र ने अपने ही घर मे फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली है. नरेंद्र का किसी बात को लेकर परिवार वालों के साथ विवाद हुआ था.

इसे भी पढ़ेंःधनबाद : 10 दिनों में #Mob_Lynching की 10 घटनाएं, दो की मौत

adv

नरेंद्र इस विवाद को लेकर काफी परेशान रहते थे. जिस कारण नरेंद्र ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी.

पुलिस ने बगैर पंचनामा शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा

सरायढेला पुलिस ने बिना पंचनामा के ही शव को पोस्टमार्टम के लिए पीएमसीएच भेज दिया है. ऐसे में सवाल यह उठता है कि आखिर एएसआइ ने नरेंद्र के गले में जो निशान देखा था, उसका क्या हुआ.

सूत्रों के अनुसार, नरेंद्र के नाम से एक 30 करोड़ रुपये का इंश्योरेंस है. सूत्रों का कहना है कि इसी राशि के लिए परिजन और पुलिस मिलकर मामले की लीपापोती में लगे हुए हैं.

इसे भी पढ़ेंःकमजोर होता जा रहा है पुलिस का खुफिया तंत्र, टेक्निकल सेल पर बढ़ी निर्भरता

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button