न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सुशील मोदी ने रघुवंश प्रसाद से कहा- ‘एनडीए में आइए, मिलेगा उचित सम्मान’

1,331

Patna: बिहार बीजेपी के वरिष्ठ नेता और सूबे के डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद को एनडीए में शामिल होने का न्योता दिया है. गुरुवार को रघुवंश प्रसाद की प्रशंसा करते हुए उन्होंने राजग में शामिल होने पर उचित सम्मान दिए जाने की बात कही. ज्ञात हो कि सवर्ण आरक्षण पर आरजेडी के रुख पर रघुवंश की नाराजगी के बाद सुशील मोदी ने ये बातें कहीं.

हम देंगे सम्मान- सुशील मोदी

सुशील ने गुरुवार को यहां पत्रकारों से बातचीत में आरोप लगाया कि रघुवंश जैसे नेता को राजद में उचित सम्मान नहीं दिया जा रहा है और न ही उनकी बातें सुनी जा रही हैं. उन्होंने कहा कि रघुवंश को राजद छोड़कर राजग के साथ आना चाहिए. आएं, हम उन्हें पूरा सम्मान देंगे.

आरक्षण पर पार्टी का रुख सही- तेजस्वी

इधर बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने उच्च जाति में आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण को लेकर अपनी पार्टी राजद के रुख को सही ठहराते हुए गुरुवार को कहा कि उनका विरोध इसके लिए केंद्र सरकार द्वारा पारित विधेयक के कुछ प्रावधानों को लेकर है.

तेजस्वी ने ट्विटर पर ‘तेजस्वी की चौपाल’ के दौरान कहा कि सवर्ण में आर्थिक रूप से पिछडे लोगों को जो 10 प्रतिशत आरक्षण दिया गया है, क्या इसे दिए जाने के पूर्व कोई सर्वेक्षण कराया गया है. इसका क्या आधार है. क्या इसको लेकर किसी आयोग का गठन किया गया या फिर ऐसे आयोग ने कोई रिपोर्ट दी है. उन्होंने कहा कि सदियों से चली आ रही वर्ण व्यवस्था के सवर्णों के प्रतिनिधित्व के तहत यह आरक्षण दिया गया. इससे गरीब सवर्ण को लाभ नहीं मिल पाएगा.

Related Posts

#PMCH के बाहर केंद्रीय मंत्री पर फेंकी गई स्याही, डेंगू मरीजों का हाल जानने पहुंचे थे अश्विनी चौबे

केंद्रीय मंत्री ने पूर्व सांसद पप्पू यादव का नाम लिये बगैर ठहराया जिम्मेदार

रघुवंश ने सवर्ण आरक्षण पर पार्टी के रुख पर उठाये थे सवाल

उल्लेखनीय है कि रघुवंश ने बुधवार को कहा था कि उनकी पार्टी द्वारा सवर्ण आरक्षण को लेकर संसद में जो रुख अपनाया गया था, उस पर पार्टी के भीतर विचार हो रहा है. उन्होंने कहा था कि राजद प्रमुख लालू प्रसाद भी सवर्णों के समर्थन में बोलते रहे हैं. पूर्व में पार्टी के घोषणा पत्र में भी इसका जिक्र किया गया था. पार्टी के नेताओं ने जाना नहीं और देखा नहीं. सभी पार्टियों ने इस आरक्षण का समर्थन कर दिया और इन लोगों को ठग लिया. रसातल पर नहीं जाना चाहिए.

इसे भी पढ़ेंः मोहन भागवत का मोदी सरकार पर हमलाः युद्ध नहीं फिर भी सीमा पर शहीद हो रहे हैं जवान

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like