BiharMain Slider

सुशांत मौत केसः बिहार सरकार ने की सीबीआइ जांच की सिफारिश

Patna: एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले में बिहार सरकार ने सीबीआइ जांच की सिफारिश की है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने केंद्र सरकार से पूरे मामले की सीबीआइ जांच कराये जाने की सिफारिश की है. बता दें कि मंगलवार को सुशांत के पिता केके सिंह ने सीएम नीतीश से बात करके मामले की सीबीआइ जांच कराने की मांग की थी.

बता दें कि बिहार के तमाम राजनीतिक दल के नेताओं ने भी लगातार मामले की सीबीआइ जांच कराने की मांग थी. वहीं नीतीश कुमार ने कहा था कि सुशांत के पिता अगर सीबीआइ से मामले की जांच कराने की मांग करते हैं, तो वो सिफारिश करेंगे, और हुआ भी कुछ वैसा ही.

इसे भी पढ़ेंःतो क्या मोदी सरकार फेल हो चुकी है! जानिये पैसे के मामले में कितने गरीब हुए आप

advt

बिहार के नेताओं ने की थी सीबीआइ जांच की मांग

मंगलवार को एक दिन के मानसून सत्र में भी सुशांत केस की गूंज सुनाई दी थी. विधानसभा के एक दिन के सत्र में सुशांत के चचेरे भाई और बीजेपी विधायक नीरज सिंह ने सुशांत का मामला सदन में उठाया और CBI जांच की मांग भी की. जिसके बाद नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव भी विधायक के समर्थन में आ गये. और तेजस्वी ने भी सुशांत मामले की सीबीआइ जांच की मांग की. इधर लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने पूरे मामले को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र लिखा था. और सुशांत सिंह केस के लिए सीबीआइ जांच की मांग की थी.

इसे भी पढ़ेंःCoronaUpdate: 24 घंटे में 52 हजार से अधिक नये केस, 6 लाख के करीब एक्टिव मरीज

बिहार पुलिस को नहीं मिल रहा था सहयोग !

उल्लेखनीय है कि मामले को लेकर बिहार पुलिस मुंबई में जांच कर रही है. लेकिन लगातार मुंबई पुलिस की ओर से बिहार पुलिस को सहयोग नहीं किये जाने की बात सामने आ रही थी. वहीं मामले की जांच के लिए मुंबई गये बिहार के IPS अधिकारी विनय तिवारी को क्वारेंटाइन किये जाने के बाद बिहार की राजनीति गरमा गयी थी. सभी पार्टियों ने एक सुर में  इस मामले की CBI जांच की मांग की थी.

बता दें कि 14 जून 2020 को एक्टर सुशांत सिंह राजपूत अपने मुंबई स्थित फ्लैट में मृत पाये गये थे. मुंबई पुलिस के मुताबिक, सुशांत ने सुसाइड किया है, और फांसी लगाकर अपनी जान दे दी. अब पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि आखिर सुशांत ने ऐसा कदम क्यों उठाया. वहीं सुशांत के पिता केके सिंह ने एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती पर कई संगीन आरोप लगाते हुए पटना में एफआइआर दर्ज करायी है. जिसकी जांच के लिए पहले बिहार पुलिस की चार सदस्यीय टीम गयी थी. बाद में आइपीएस विनय तिवारी को भेजा गया, जहां बीएमसी ने उन्हें जबरन क्वारेंटाइन कर दिया.

adv

इसे भी पढ़ेंःलातेहार में कोरोना से पहली मौत, 14 दिनों में पलामू प्रमंडल में पांच लोगों की गयी जान

advt
Advertisement

5 Comments

  1. Very good article! We are linking to this particularly great content on our site. Keep up the great writing.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button