NEWS

सुशांत केसः वकील विकास सिंह का दावा- रिया की FIR गैरकानूनी

New Delhi: सुशांत सिंह राजपूत मौत की गुत्थी सुलझाने में जुटी सीबीआइ की जांच जारी है. इधर ड्रग्स को लेकर रिया चक्रवर्ती का शिकंजा कसा है. एनसीबी ने रिया को गिरफ्तार किया है. वहीं सुशांत केस में रिया ने सोमवार को एक्टर की बहन और डॉक्टर के खिलाफ मामला दर्ज कराया है. इस एफआइआर को सुशांत के पिता के वकील विकास सिंह ने गैरकानूनी बताया है.

Sanjeevani

 इसे भी पढ़ेंः ड्रग्स केस में NCB ने किया रिया को गिरफ्तार, मेडिकल टेस्ट की तैयारी शुरू

MDLM

‘गैर-कानूनी है रिया की शिकायत’

सुशांत सिंह राजपूत के परिवार के वकील विकास सिंह ने मंगलवार को दावा किया कि रिया चक्रवर्ती की शिकायत पर मुंबई पुलिस द्वारा राजपूत की बहनों और अन्य के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करना गैर कानूनी है और वे इस मामले में कठोर कदम उठाएंगे.

वरिष्ठ अधिवक्ता ने कहा कि राजपूत की मौत का मामला गंभीर है और सीबीआइ, ईडी और एनसीबी जैसी कई एजेंसियां मामले की जांच कर रही हैं और वे आरोपी द्वारा ऐसी शिकायत दर्ज कराकर जांच को भटकाने नहीं देंगे.
उन्होंने कहा कि फैसला लिया जाएगा कि सुशांत सिंह राजपूत का परिवार अवमाना याचिका दायर करे या इस मामले में उनकी (रिया की) शिकायत को खारिज कराने को लेकर अर्जी दे. सुशांत के परिजनों ने राजपूत की ‘लिव इन पार्टनर’ अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती पर आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाया है.

वही इस एफआइआर को लेकर सुशांत की बहन ने ट्वीट कर कहा था कि झूठी एफआइआर हमें नहीं तोड़ सकती है.

 इसे भी पढ़ेंः औंधे मुंह गिरती इकोनॉमीः फिच का चालू वित्त वर्ष में भारतीय अर्थव्यवस्था में 10.5 % की गिरावट का अनुमान

‘बांद्रा पुलिस थाना रिया का दूसरा घर’

विकास सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में आरोप लगाते हुए कहा, ‘मुझे प्राथमिकी दिखाई गई. पहला विचार मेरे दिमाग में आया कि क्या बांद्रा पुलिस थाना उनका (चक्रवर्ती) दूसरा घर है. मुंबई पुलिस द्वारा प्राथमिकी दर्ज करना पूरी तरह से गैरकानूनी है और उच्चतम न्यायालय के आदेश की अवमानना है.’

उन्होंने कहा, ‘सुप्रीम कोर्ट ने साफ तौर पर कहा है कि मुंबई पुलिस केवल संबंधित प्रक्रिया के तहत प्राथमिकी दर्ज कर सकती है. उच्च न्यायालय के फैसले के अनुसार चिकित्सा टीम गठित किए बिना डॉक्टर के खिलाफ कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं की जा सकती.’
उल्लेखनीय है कि रिया ने आरोप लगाया है कि प्रियंका सिंह, दिल्ली के डॉक्टर तरुण सिंह और अन्य ने 34 वर्षीय अभिनेता के तनाव का इलाज करने के लिए फर्जीवाड़ा कर दवा की फर्जी पर्ची बनाई.

इसे भी पढ़ेंः LAC विवादः चीन के दावों की भारतीय सेना ने खोली पोल, पीएलए ने की फायरिंग, हमने संयम से लिया काम

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button