National

सर्वे : सोचिए, एशिया में नंबर वन घूसखोर हैं भारतीय… कम्‍बोडिया दूसरे और इंडोनेशिया तीसरे नंबर पर…

सर्वे के अनुसार केवल 47 प्रतिशत लोग मानते हैं कि पिछले 12 महीनों में भ्रष्‍टाचार बढ़ा है. 63 फीसदी लोगों का मानना है कि सरकार भ्रष्‍टाचार से निपटने में अच्‍छा काम कर रही है.

NewDelhi : ट्रांसपेरेंसी इंटरनैशनल के सर्वे के अनुसार घूसखोरी के मामले में भारत की स्थिति एशिया में सबसे खराब है. यानी घूसखोरी में भारत नंबर वन है. यहां घूसखोरी की दर 39 प्रतिशत है. बांग्‍लादेश में घूसखोरी की दर भारत के मुकाबले काफी कम (24 प्रतिशत) है. श्रीलंका में यह 16 प्रतिशत है. सर्वे के अनुसार केवल 47 प्रतिशत लोग मानते हैं कि पिछले 12 महीनों में भ्रष्‍टाचार बढ़ा है. 63 फीसदी लोगों का मानना है कि सरकार भ्रष्‍टाचार से निपटने में अच्‍छा काम कर रही है.

सर्वे का मानें तो  भारत में सरकारी सुविधाओं के लिए 46 प्रतिशत लोग निजी कनेक्‍शंस का सहारा लेते हैं. रिपोर्ट के अनुसार रिश्‍वत देने वाले करीब आधे लोगों से घूस मांगी गयी थी. वहीं, निजी कनेक्‍शंस का इस्‍तेमाल करने वालों में से 32फीसदी ने कहा कि अगर वे ऐसा नहीं करते तो उनका काम लटक जाता.

इसे भी पढ़े : उपराष्ट्रपति ने कहा,  न्यायपालिका का हस्तक्षेप बढ़ा है…कुछ अदालती फैसले यही इशारा करते हैं…

दक्षिण कोरिया और जापान की स्थिति भी अच्छी है

भारत के बाद सबसे ज्‍यादा घूसखोरी कम्‍बोडिया में है. यहां 37 फीसदी लोग रिश्‍वत देते हैं. 30 फीसदी के साथ इंडोनेशिया तीसरे नंबर पर है. हालांकि मालदीव और जापान में घूसखोरी की दर पूरे एशिया में सबसे कम 2% है. दक्षिण कोरिया और जापान की स्थिति भी अच्छी है. ट्रांसपेरेंसी इंटरनैशनल के सर्वे में पाकिस्‍तान को शामिल नहीं किया गया था.

इसे भी पढ़े : पाकिस्तान नहीं सुधरेगा, आतंकी हाफिज सईद  26/11 की बरसी पर मारे गये आतंकियों के लिए प्रार्थना करवा रहा है

ट्रांसपेरेंसी इंटरनैशनल ने 17 देशों के 20,000 लोगों से सवाल-जवाब किया

जानकारी के अनुसार ट्रांसपेरेंसी इंटरनैशनल ने  ग्‍लोबल करप्‍शन बैरोमीटर–एशिया के नाम से प्रकाशित अपनी सर्वे रिपोर्ट के लिए 17 देशों के 20,000 लोगों से सवाल-जवाब किया. सर्वे जून और सितंबर के बीच किया गया.  उनसे पिछले 12 महीनों में भ्रष्‍टाचार के अनुभवों की जानकारी मांगी गयी थी. सर्वे में छह तरह की सरकारी सेवाएं शामिल गयी थीं. रिपोर्ट के अनुसार हर चार में से तीन लोगों ने माना कि उनके देश में सरकारी भ्रष्‍टाचार सबसे बड़ी समस्‍या है. हर तीन में से एक व्‍यक्ति अपने सांसदों को सबसे भ्रष्‍ट व्‍यक्ति के रूप में देखता है. मलेशिया, इंडोनेशिया और थाइलैंड में सेक्‍सुअल एक्‍सटॉर्शन के मुद्दे को भी रिपोर्ट में प्रमुखता से उठाया गया है.

इसे भी पढ़े : हैंड ऑफ गॉड के लिए याद किये जाने वाले महान फुटबॉलर डिएगो माराडोना नहीं रहे… हार्ट अटैक से निधन…

पुलिस के संपर्क में आये 42 प्रतिशत लोगों ने घूस दी

भारत में जिन लोगों का सर्वे हुआ, उनमें से पुलिस के संपर्क में आये 42प्रतिशत लोगों ने घूस दी. पहचान पत्र जैसी सरकारी दस्‍तावेज हासिल करने के लिए भी 41प्रतिशत  लोगों को घूस देनी पड़ी. निजी कनेक्‍शन का इस्‍तेमाल कर काम निकलवाने के मामले सबसे ज्‍यादा पुलिस (39प्रतिशत ), आईडी हासिल करने (42प्रतिशत ) और अदालती मामलों (38प्रतिशत ) से जुड़े रहे.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: